जिस कोहली का बड़े-बड़े गेंदबाज भी तोड़ नहीं ढूंढ पा रहे, उसे उत्तराखंड में बीजेपी ने घेरा

उत्तराखंड में 15 फरवरी को हुए विधानसभा चुनाव के बाद अब 11 मार्च का इंतजार है. इसी दिन विधानसभा चुनाव का परिणाम आएगा और तय हो जाएगा कि किसकी सरकार बनेगी और किसके सिर ताज सजेगा. लेकिन इस बीच बीजेपी-कांग्रेस को जहां भी मौका मिल रहा है, वे एक-दूसरे को घेर रहे हैं.

इसी तरह की कोशिश में बीजेपी अब केदारा-पार्ट-2 लेकर आ गई है. इसमें मशहूर क्रिकेटर और उत्तराखंड के ब्रांड एंबेसडर विराट कोहली को भी पार्टी ने घेर लिया है.

केदारा-पार्ट-1 में बीजेपी ने मशहूर सूफी गायक कैलाश खेर को आपदा मद से 12 करोड़ का भुगतान किए जाने पर सवाल उठाए थे. अब पार्टी ने इसी तरह के एक दूसरे मामले में विराट कोहली की घेराबंदी की है.

इस मामले में 60 सेकेंड की ऑडियो विजुअल शूटिंग के लिए कोहली को आपदा मद से करीब 48 लाख का भुगतान किए जाने की बात सामने आई है. कोहली को यह भुगतान कैलाश खेर की कंपनी के मार्फत किया गया है. बीजेपी ने इस पूरे प्रकरण को शर्मनाक बताया है. दूसरी तरफ, कांग्रेस भी बीजेपी पर पलटवार करने से नहीं चूकी है.

केदारनाथ क्षेत्र के बीजेपी नेता अजेंद्र अजय ने आरटीआई के जरिए विराट कोहली से जुड़े मामले को उजागर किया है. इससे पहले, कैलाश खेर को भुगतान के मामले में भी अजय ने ही आरटीआई से सूचनाएं इकट्ठा की थीं.

इसके बाद, उत्तराखंड की सियासत में गरमी आ गई थी. अब फिर से बीजेपी के खुलासे के बाद आपदा पुनर्वास का मामला गरमा सकता है. इधर, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी ने कहा है कि हरीश रावत सरकार के कामकाज से घबराकर बीजेपी ने हमेशा नकारात्मक प्रचार किया है.

उन्होंने कहा कि सरकार ने जो भी काम किए, उसमें राज्य का हित छिपा रहा. केदारनाथ आपदा के बाद की असामान्य स्थिति से पूरे राज्य को हरीश रावत की सरकार ही बाहर निकालकर लाई है.

अजेंद्र अजय को दी गई जानकारी में बताया गया है कि आदेश संख्या 82, डीडीएमएस, 2015-16 दिनांक 14.7.2015 द्वारा मै. कैलाशा इंटरनेशनल प्रा.लि. मुंबई को बीजक संख्या 105, दिनांक 27.4.2015 के क्रम में भुगतान किया गया है.

यह भुगतान कंपनी को विराट कोहली ब्रांड एंबेसडर के साथ तैयार किए गए 60 सेकेंड की ऑडियो-विजुअल शूटिंग टीवीसी के लिए किया गया है. भुगतान की धनराशि 47 लाख 19 हजार 120 रुपये आयकर सहित है.

इसका भुगतान संबंधित फर्म को डीबीएम रुद्रप्रयाग द्वारा शासनादेश संख्या 1375, एक्सवी 3, 2, 15.4.2015 दिनांक 20.5.2015 के द्वारा किया गया है. यह भी बताया गया है कि भुगतान श्री केदारनाथ धाम क्षेत्र में गतिमान पुनर्निर्माण कार्यों और यात्रा व्यवस्थाओं हेतु यूएसडीएमए राज्य सेक्टर द्वारा अवमुक्त की गई धनराशि द्वारा किया गया है.