पूरे विधि-विधान के साथ तीन मई को खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट

केदारनाथ धाम -फाइल फोटो

11वें ज्योतिर्लिंग भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि शुक्रवार को महाशिवरात्रि पर्व पर पंचगद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में तय की कर दी गई है. तीन मई को सुबह 8:50 बजे केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे. इस मौके पर ओंकारेश्वर मंदिर पर विशेष पूजा अर्चना की गई.

भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि हर साल महाशिवरात्रि पर्व पर तय होती है, जबकि मंदिर के कपाट भैया दूज पर बंद होते हैं. यह परंपरा सदियों से चली आ रही है. तीन धामों के बाद अब चौथे धाम केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि पंचांग गणना के अनुसार पुरोहितों, वेदपाठी, बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति व हक हकूकधारियों की मौजूदगी में शुक्रवार को तय गई.

मंदिर समिति के कार्याधिकारी अनिल शर्मा ने बताया कि तीर्थ-पुरोहितों व हक-हकूकधारियों की मौजूदगी में कपाट खुलने की तिथि की गणना हुई. इस अनुसार तीन मई को केदारनाथ के कपाट खुलेंगे. 30 अप्रैल को उखीमठ स्थित ओंकारेश्वर मंदिर से डोली केदारनाथ के लिए रवाना होगी.

वहीं, देश के प्रसिद्ध चार धामों में से एक श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट आगामी छह मई को ब्रह्ममुहूर्त में 4.15 बजे खोले जाएंगे. जबकि, भगवान बद्री विशाल के अभिषेक में प्रयुक्त होने वाले तिल के तेल का कलश (गाडू घड़ा) 22 अप्रैल को नरेंद्रनगर स्थित राजमहल से बद्रीनाथ धाम के लिए रवाना होगा.