सीरिया फिर हुआ लहूलुहान, ISIS के आत्मघाती हमले में 51 लोगों की मौत

आईएस के एक आत्मघाती बम हमलावर ने सीरिया के शहर अल-बाब के पास तुर्की समर्थित विद्रोहियों पर हमला कर 51 लोगों की जान ले ली. यह इलाका कुछ ही घंटे पहले इन विद्रोहियों ने इस्लामिक स्टेट से छीनी थी. सीरियन ऑब्जवेर्टरी फॉर हयूमन राइटस ने बताया कि बम हमलावर ने विस्फोटकों से भरे वाहन को सूसियान में उड़ा दिया. यह सीरिया के रणनीतिक शहर अल-बाब से आठ किलोमीटर पूवोर्त्तर में स्थित है. ऑब्जवेर्टरी ने कहा कि इस विस्फोट ने दो आसपास स्थित विद्रोही कमान चौकियों को उड़ा दिया और बड़ी संख्या में लड़ाकों को घायल कर दिया.

अल-बाब तुर्क सीमा से महज 25 किलोमीटर दक्षिण में है. यह उत्तर सीरिया के प्रांत अलेप्पो में आईएस का अंतिम मजबूत गढ़ रहा है. पहले ऑब्जवेर्टरी ने कहा था कि इस आत्मघाती हमले में 42 लोगों की मौत हुई है और मरने वालों में ज्यादातर विद्रोही हैं, लेकिन बाद में उसने साफ किया कि मरने वालों में ज्यादातर असैनिक हैं. अभी तत्काल किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन विद्रोही इसके लिए आईएस को जिम्मेदार बता रहे हें जिसने अल-बाब के लिए कई हफ्तों तक तीखा प्रतिरोध किया था.

विद्रोहियों ने इस शहर को हासिल करने के लिए पिछले साल हमले शुरू किए थे. इसके लिए उसे तुर्की सैनिकों, युद्धक सामग्री और हवाई हमलों की मदद मिल रही थी. तुर्की ने पिछले अगस्त में एक अभियान के तहत सीरिया में सैनिक भेजे थे और कहा था कि इस अभियान के जरिए सिर्फ आईएस को ही नहीं बल्कि अमेरिका समर्थित कुर्द लड़ाकों को भी निशाना बनाया गया। इन लड़ाकों को वह आतंकी की संज्ञा देता है.

अल-बाब के लिए चली यह लड़ाई पूरे अभियान में सबसे घातक रही है और इसमें कम से कम 69 तुर्की सैनिक मारे गए हैं. तुर्क रक्षामंत्री ने फिकरी इसिक ने कल कहा कि उसके विद्रोही सहयोगियों ने शहर पर लगभग पूरा कब्जा कर