यूपी चुनाव घमासान: सपा-बसपा के कार्यकर्ताओं में भिड़ंत । समाजवादी पार्टी प्रत्याशी के बेटे सहित चार घायल

उत्तर प्रदेश में गुरुवार को चौथे चरण का मतदान हो रहा है. महोबा में चुनावी वर्चस्व के चलते समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच चुनावी संघर्ष हो गया. इस घटना में सपा प्रत्याशी सिद्धगोपाल साहू के पुत्र साकेत साहू, यूथ विग्रेड के जिलाध्यक्ष सहित चार लोग घायल बताये जा रहे है. यह घटना बजरिया चौकी से मात्रा चार कदम की दूरी पर हुई है. घटना को कथित तौर पर अंजाम देने वाले बीएसपी प्रत्याशी का पुत्र हिमांचल और नाति सहित दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी गई है.

चौथे चरण के मतदान के लिए आज बुंदेलखंड के महोबा में मतदान जारी है. लेकिन उससे पहले सुबह तकरीबन तीन बजे यह चुनाव खूनी संघर्ष में बदल गया. बताया जा रहा है कि सपा प्रत्याशी सिद्धगोपाल साहू का ड्राइवर रेलवे स्टेशन से चाय पीकर लौट रहा था. आरोप है कि तभी बजरिया चौकी के पास बीएसपी समर्थकों की कार ने टक्कर मार दी. कथित तौर पर इस बात की जानकारी मिलने पर सपा प्रत्याशी पुत्र साकेत साहू और मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड के जिला अध्यक्ष तारिक सहित एक दर्जन साथी मौके पर पहुंचे. आरोप है कि मौके पर मौजूद बीएसपी प्रत्याशी अरिमर्दन सिंह के बेटे हिमांचल सिंह, नाति अभिमन्यु सिंह सहित दो दर्जन से अधिक बसपा समर्थक उन पर टूट पड़े. बताया जा रहा है कि घटनास्थल बजरिया चौकी से चार कदम की दूरी पर ही है.

इस घटना से सपा प्रत्याशी पुत्र साकेत साहू को गोली लगी है और सपा यूथ बिग्रेड के जिलाध्यक्ष अब्दुल तारिक, सपा कार्यकर्ता अमित सहित एक अन्य को भी गोली लगी है. सपा प्रत्याशी और पूर्व मंत्री सिद्धगोपाल साहू का कहना है कि घटना की सूचना मिलते एसपी गौरव सिंह सहित डीएम अजय कुमार और भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया.

घटना को अंजाम देकर सभी बसपा समर्थक मौके से फरार हो गए. पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है. सपा प्रत्याशी सिद्धगोपाल साहू ने पांच लोगों के नाम एफआईआर दर्ज कराई है. साथ ही दो दर्जन से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ भी शिकायत दर्ज कराई है.

बताया जा रहा है कि साकेत सहित दो लोगों की हालात नाजुक बनी हुई है जिन्हें इलाज के लिए कानपुर भेज दिया गया है. इस घटना से पूरे इलाके कोहराम मच गया है.