हल्द्वानी: ऑटो चालक द्वारा अपहृत बच्ची गोरापड़ाव के जंगल से बरामद

सांकेतिक फोटो

आरके टेंट हाउस रोड से बीती मंगलवार की शाम को एक ऑटो चालक ने पास में ही खेल रही आठ साल की बच्ची का अपहरण कर लिया। सूचना पर एसएसपी के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें बच्ची की तलाश में रातभर जुटी रहीं, लेकिन सफलता नहीं मिली। सुबह हरिपुर शिवदत्त गोरापड़ाव निवासी आशा कार्यकर्त्री मोहिनी ने फोन कर पुलिस को बताया कि बच्ची उनके पास है।

मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची को बरामद कर लिया। बच्ची की गर्दन पर खरोंच के निशान थे। इधर, कुछ लोगों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म की आशंका जताई। आशा कार्यकर्त्री ने बताया कि बच्ची बीती शाम को ही ठेकेदार कयूम को जंगल में रोते हुए मिली थी। पूछने पर अपनी मां के अलावा किसी का नाम या पता नहीं बता पा रही थी।

मोहिनी ने बताया कि उन्होंने बच्ची को रातभर अपने पास ही रखा और सुबह होते ही इस संबंध में पुलिस को सूचना दी। बच्ची से सीओ लोकजीत सिंह, थानाध्यक्ष केआर पांडे ने महिला कर्मचारियों के साथ पूछताछ की। बच्ची मेडिकल भी कराया गया। सीओ का कहना है कि मेडिकल में बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। मामले में मुखानी पुलिस ने बच्ची की मां की तहरीर पर धारा 363 के तहत अज्ञात पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुुलिस टेंपो चालक की तलाश कर रही है।

चौकी प्रभारी सुशील जोशी ने बताया कि मंगलवार शाम को आरके टेंट हाउस रोड पर ऑटो चालक ने बीड़ी मंगाने के बाद भाई-बहन को घुमाने के लिए ऑटो में बैठा लिया था, लेकिन बच्चा टेंपो से उतर गया था। इसके बाद चालक बच्ची को लेकर चला गया। पुलिस को आशंका है कि बच्ची की तलाश की बात का पता चलने पर आरोपी चालक ने डर के चलते बच्ची को जंगल में ही छोड़ दिया होगा।