कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में शिकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश जारी

बाघों के शिकार को रोकने के लिए कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के अधिकारियों ने शिकारियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी कर दिया है. यह कदम अधिकारियों ने टाइगर रिजर्व में बाघों के शिकार को रोकने के लिए उठाया है . यह आदेश उस सूचना के बाद आया है जिसमें कथित तौर पर कहा गया था कि रिजर्व की दक्षिणी सीमा पर शिकारी देखे गए हैं.

गोली मारने के आदेश देने के अलावा अधिकारियों द्वारा शिकार रोकने के लिए और भी कदम उठाए जा रहे हैं. अधिकारियों ने आस-पास के गांव वालों को भी रिजर्व के इलाके में आने से मना किया है। इसके साथ-साथ टाइगर रिजर्व में आने वाले सैलानियों की भी सघन रूप से तलाशी ली जा रही है.

धकाते ने कहा, ‘हम लोगों ने विशेष शिकार विरोधी अभियान शुरू किया है जिसके तहत जंगल के स्टाफ को हथियारबंद संदिग्ध शिकारियों को देखते ही गोली मारने का आदेश दिया गया है. हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है कि शिकारियों को रोकने के लिए ऐसा आदेश दिया गया हो.’ बता दें कि यह आदेश बीबीसी की उस विवादित डॉक्युमेंट्री ‘किलिंग फॉर कन्जर्वेशन’ प्रसारित होने के एक दिन बाद आया है जिसमें कहा गया है कि शिकारियों को रोकने के कदम बहुत आगे जा चुके हैं। इस फिल्म में बीबीसी के दक्षिण एशिया संवाददाता जस्टिन रॉलैट द्वारा दावा किया गया है कि रिजर्व के गार्डों को लोगों को मारने के आदेश दिए गए हैं जिससे 23 शिकारियों और 17 गैंडों की मौत हो गई है.