नैनीताल से रूठ गए इंद्र देवता, नैनी झील का जलस्तर गिरा

नैनीताल शहर की पहचान और यहां के लिए जीवनदायिनी नैनी झील का जलस्तर इस बार फरवरी में ही छह इंच नीचे पहुंच गया है. यदि बारिश नहीं हुई तो मई-जून में हालात विकट हो हो सकते हैं. जलस्तर कम होने की वजह से झील किनारे समुद्री बीच जैसा इलाका उभर आया है.

शहर में साल दर साल बारिश की कमी का असर झील की सेहत पर पड़ रहा है. इस बार सामान्य बारिश तथा एक बार शहर में व दूसरी बार ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई मगर झील के जलस्तर में नाममात्र का सुधार हुआ.

बारिश नहीं होने के बाद झील के जलस्तर में गिरावट का सिलसिला सा चल पड़ा है. पिछली बार जून में जलस्तर सात फिट एक इंच था, इस बार तो जून-जुलाई में जलस्तर में रिकार्ड कमी आने की आशंका है.

जलस्तर में कमी की वजह से छावनी परिषद ने पानी खींचने के लिए मोटर के पाइप जनवरी में ही लगा दिए, जबकि आम तौर पर मोटर अप्रैल में लगाई जाती थी.