बागेश्वर : मनकोट के जंगलों में लगी आग से लाखों की वन संपदा खाक

बागेश्वर जिले में विभिन्न गांवों के जंगलों में लगी आग से करोड़ों की वन संपदा नष्ट हो रही है. रविवार रात मनकोट के जंगलों में आग लग गई. इधर कांडा, कपकोट में भी जंगलों में आग लगने से वन संपदा नष्ट हो रही है.

समय से पहले ही बागेश्वर के जंगल आग की भेंट चढ़ रहे हैं. जंगलों में लगी आग से अभी तक करोड़ों की वन संपदा नष्ट हो रही है. मनकोट, बिलौना, द्यांगण, जौलकांडे, काफलीगैर के जंगल आग की भेंट चढ़ चुके हैं. रविवार रात मनकोट के जंगलों में आग के कारण वातावरण में धुंध छा गई है.

वन विभाग ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए संबंधित फारेस्टर व रेंजर को आदेश दिया है. फरवरी में ही जंगलों में लग रही आग से वन विभाग खासा चिंतित है.

सर्दियों में बारिश व बर्फबारी नहीं होना ही जंगलों में आग लगने की प्रमुख वजह है. पर्यावरण के जानकार वृक्ष प्रेमी किशन सिंह मलड़ा का कहना है कि इस बार जाड़ों में बारिश नहीं हुई, जिस कारण बर्फबारी भी नहीं हुई.

ऊंचाई वाले हिस्सों में ही एक दो बार बर्फबारी हुई, लेकिन निचले हिस्सों में बारिश व बर्फबारी का न होना चिंताजनक है. आने वाले दिनों में जंगलों में आग की घटनाओं में इजाफा होने की पूरी आशंका है.