मुस्लिम होकर भी आप टीम इंडिया के लिए क्यों खेलते हैं? जवाब…

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज इरफान पठान भले ही टीम से बाहर चल रहे हैं, लेकिन वे कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर चर्चा में हैं. इरफान हाल ही में एक समारोह में हिस्सा लेने नागपुर पहुंचे थे और इस दौरान उन्‍होंने मीडिया से मुखातिब होते समय एक ऐसे वाकिये का जिक्र किया जिसके बाद वो सुर्खियों में आ गए.

इरफान पठान ने एक घटना का जिक्र करते हुए बताया कि एक बार पाकिस्तान में एक लड़की ने मुझसे सवाल किया था कि आप मुसलमान होकर भारत के लिए क्यों खेलते हो, तब मैंने उसे करारा जवाब देते कहा था कि मैं भारतीय हूं, इसलिए भारत के लिए खेलता हूं. मुझे भारतीय होने का गर्व है. उन्होंने कहा कि मेरा जवाब सुनकर पाकिस्तानी लड़की चुप हो गई थी.

उन्होंने कहा कि उस लड़की से हुई बातचीत मुझे आज भी बेहतर करने के लिए प्रेरित करती है. हालांकि टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज रहे इरफान ने अंतिम बार 2 अक्टूबर 2012 को अपना अंतिम टी-20 खेला था. पठान महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली टीम में पिछले आईपीएल सीजन में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के भी सदस्य थे.

हालांकि उन्हें अंतिम एकादश में कई बार जगह नहीं मिली. फिलहाल इरफान पठान सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में वेस्ट जोन की ओर से शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. इरफान पठान ने टीम इंडिया के लिए 29 टेस्ट, 120 वनडे खेले हैं. पठान पहले क्रिकेटर हैं जिन्होंने पहले ओवर में हैट्रिक लगाई थी. यह कारनामा उन्होंने 2006 में पाकिस्तान दौरे में टेस्ट मैच के दौरान किया था.

इरफान पठान ने 2003 में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के दौरान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने करियर का आगाज किया था. इरफान पठान के नाम सभी फॉर्मेट में 301 विकेट और 1800 रन दर्ज हैं. खासतौर पर पाकिस्तान के खिलाफ उनका प्रदर्शन प्रभावशाली रहा था.

2006 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच में पहले ही ओवर में उन्होंने हैट्रिक ली थी. पाकिस्तान दौरे में लक्ष्मीपति बालाजी और इरफान की जोड़ी ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं. पाकिस्तान के खिलाफ दोनों ने बल्ले और गेंद से धमाल मचाया था.