राज्यपाल से मिले AIADMK के विधायक दल के नेता पलानीसामी, किया सरकार बनाने का दावा

जैसे ही उच्चतम न्यायालय ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में शशिकला को दोषी करार देकर सजा सुनाई, उसके कुछ ही घंटे बाद शशिकला कैंप ने पलानीस्वामी को अन्नाद्रमुक विधायक दल का नेता चुन लिया. शशिकला ने यह दांव खेलकर साबित कर दिया है कि एआईएडीएमके पर उन्हीं का कब्जा है और वही इसको अपनी मर्जी से चलाएंगी. उनके वफादार ई. पलानीस्वामी को पार्टी का नया नेता चुन लिया गया है. अगर पलामीस्वामी को राज्य के मुख्यमंत्री बनते हैं तो पिछले दो माह में सत्ता संभालने वाले वह तीसरे मुख्यमंत्री होंगे. उधर, पन्नीरसेल्वम को शशिकला कैंप ने पार्टी से निकाल दिया है.

बाद में देर शाम शशिकला खेमे के अन्नाद्रमुक विधायक दल के नवनियुक्त नेता इदप्पाडी के पलानीस्वामी ने तमिलनाडु के राज्यपाल सीएच विद्यासागर राव से मुलाकात की. माना जा रहा है कि उन्होंने गवर्नर के सामने सरकार बनाने का दावा पेश किया है. राज्यपाल ने पलानीस्वामी और 11 अन्य लोगों को शाम का समय दिया था. कुछ समय पहले ही पलानीस्वामी ने राज्यपाल को एक पत्र के माध्यम से सूचित करते हुए दावा किया था कि आज दिन में उन्हें अन्नाद्रमुक विधायक दल का नेता चुना गया है.

हालांकि यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि विधायक दल की बैठक में कितने विधायकों ने हिस्सा लिया था लेकिन मद्रास उच्च न्यायालय को कल राज्य अभियोजक ने सूचित किया था कि 119 अन्नाद्रमुक विधायक रिसॉर्ट में अपनी इच्छा से रह रहे हैं.

वहीं, उच्चतम न्यायालय के फैसले के फौरन बाद शशिकला कैंप ने पलानीस्वामी को अन्नाद्रमुक विधायक दल का नेता चुना. उच्चतम न्यायालय ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में शशिकला को दोषी करार देकर और सजा सुनाकर उनके मुख्यमंत्री बनने की उम्मीदें समाप्त कर दीं.

शशिकला को पांच फरवरी को अन्नाद्रमुक विधायक दल का नेता चुना गया था लेकिन मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने दो दिन पहले विद्रोह के स्वर उठाकर कहा था कि उन्हें पद छोड़ने के लिए बाध्य किया गया. राज्यपाल ने पिछले सप्ताह पनीरसेल्वम और शशिकला से मुलाकात की थी. शशिकला ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था.