श्रीनगर: चार ‘प’ – पर्यावरण, पर्यटन, पानी और पौधा मिलकर उत्तराखंड से पलायन रोक सकते हैं – मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के श्रीनगर में एक रैली को संबोधित किया। मोदी ने कहा कि विकास के मुद्दे को आगे बढ़ाने के लिए बीजेपी आपसे वोट मांग रही है. हमारा उत्तराखंड पूरे विश्व के लिए पर्यावरण की दृष्टि से आकर्षण का केंद्र बन सकता है. उत्तराखंड की इकोनॉमी को बढ़ाने का काम माताएं-बहनें करती हैं. पुरुष सीमा पर भारत माता पर मिटता है और महिलाएं घर चलाती हैं. यहां का हर पौधा जड़ी-बूटी है. यहां का पर्यावरण, पर्यटन और पौधा अर्थव्यवस्था की ताकत बनेगा. यहां के पानी में भी दम है. चार ‘प’ इतने ताकतवर हैं कि यहां से पलायन नहीं होगा.

पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने OROP को 40 सालों तक लटकाए रखा. खंडूरी जी ने OROP को लेकर मुझसे लगातार मुलाकात की. पिछली सरकार के पास पेंशन का हिसाब-किताब ही नहीं था. कई सैनिकों का अता-पता ढ़ूंढने में मेरी आंखों में पानी आ गया. OROP पर कांग्रेस ने फौजियों का मजाक उड़ाया है. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान से पहले कांग्रेसी बोलने लगे और सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगने लगे. हमने 12 हजार करोड़ से ज्यादा देकर OROP लागू किया. फौज के प्रति सम्मान हमारी सरकार ने दिखाया. देश का फौजी अब वार नहीं सहेगा वो प्रतिवार करेगा.

हरीश रावत के स्टिंग ऑपरेशन पर पीएम ने कहा कि कैमरे का सामने पकड़े गए, लेती-देती की चर्चा कर रहे थे. हमारे देश में कालाधन और भ्रष्टाचार का खेल चला. मैं ना चैन से बैठूंगा, ना इनको चैन से बैठने दूंगा. सबकुछ झेल लूंगा अपने देश के गरीबों के लिए. पद पर बैठकर जिन्होंने लूटा है, उनकी लूट की पाई-पाई वापस लानी है. ये चायवाला इन सबके खिलाफ मैदान में उतरकर आया है. राजनीति के लिए नोटबंदी नहीं की. गरीबों के लिए ही ये जंग कर रहा हूं.

मोदी ने कहा कि आदरणीय अटल जी ने तीन राज्य दिए, बिहार से झारखंड दिया, एमपी से छत्तीसगढ़ दिया और यूपी से उत्तराखंड दिया. छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद होने के बावजूद वहां की जनता ने बीजेपी की सरकार बनाई. झारखंड में आदिवासी हैं, कोई कल्पना नहीं कर सकता कि छत्तीसगढ़ में निवेश के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के व्यापारी आते हैं. क्या कारण है कि उत्तराखंड पीछे रह गया? कांग्रेस के लोग कहते थे कि मर जाएंगे लेकिन उत्तराखंड नहीं बनने देंगे. आज जो मुख्यमंत्री हैं, उन्होंने उत्तराखंड बनने का विरोध किया था. फिर वो उत्तराखंड का कैसे भला कर सकते हैं.

मोदी ने कहा कि कांग्रेसियों ने उत्तराखंड की जनता के घावों पर एसिड छिड़कने का काम किया है. उत्तराखंड आंदोलन के दौरान रामपुर तिराहे पर मां-बहनों के साथ क्या हुआ था, आपको याद है. समाजवादी पार्टी ने वो जुल्म किए था और आज दोनों गले मिल गए हैं. उत्तराखंड में सपा-कांग्रेस परदे के पीछे मिलकर खेल खेल रहे हैं.

पीएम ने कहा कि ये चुनाव उत्तराखंड का भाग्य बदलने के लिए है. ये तपस्या और सामर्थ्य की भूमि है. सिक्किम जाकर देखिए, 8 लाख लोगों की जनसंख्या है और 20 लाख से ज्यादा टूरिस्ट वहां आते हैं. देशवासी मां गंगा में डुबकी लगाने आते हैं, चारधाम की यात्रा आने के लिए लालायित रहते हैं. यहां यात्री को बुलाने के लिए विज्ञापन देने की जरूरत नहीं होती. ब्रदीनाथ-केदारनाथ के कपाट बंद होने के बाद यहां की सरकार विज्ञापन देती है. देवभूमि पर आने के लिए किसी व्यक्ति को समझाने की जरूरत नहीं, सिर्फ व्यवस्था अच्छी की जाए.

पीएम मोदी ने कहा कि हम उत्तराखंड में प्रवासन और पर्यटन को प्राथमिकत देना चाहते हैं. राज्य और केंद्र मिलकर ये जिम्मेदारी निभाएंगे. चारधाम का रास्ता आजादी के बाद आज तक बारह मासी नहीं हो सकता था क्या? हमने 12 हजार करोड़ की लागत से चारधाम के लिए बारह मासी रोड बनाने का काम किया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम यहां रेलवे का नेटवर्क खड़ा करना चाहते हैं. हम नहीं चाहते कि उत्तराखंड के जवानों को रोजगार के लिए यहां से जाना पड़े. मुख्यमंत्री जवाब दें कि 5 साल में कितने गांव खाली हो गए हैं. पूरी दुनिया को हरिद्वार ने योग के लिए आकर्षित किया है. योग से टूरिज्म को बढ़ावा देना है. क्या बॉलीवुड की फिल्में उत्तराखंड में शूटिंग नहीं हो सकती? हम बॉलीवुड को उत्तराखंड की गलियों में लाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं.

चुनावी वादे करते हुए मोदी ने कहा कि उत्तराखंड की महिलाओं को सोलर एनर्जी से चलने वाला चरखा मिलेगा. एक सांसद को गैस कनेक्शन के 25 कूपन मिलते थे, लोग उनके पीछे दौड़ते थे. लकड़ी का चूल्हा जलाने से एक दिन में 400 सिगरेट का धुंआ एक मां के शरीर में जाता है. तीन साल के अंदर 5 करोड़ गरीब परिवारों को गैस का चूल्हा देने का लक्ष्य है. 1 करोड़ 80 लाख घरों में गैस का चूल्हा पहुंचा. उत्तराखंड में ‘हरदा टैक्स’ लगाते हैं, जो पूरे देश में कहीं नहीं लगता. लूटने वाली कांग्रेस को उत्तराखंड से साफ कर दीजिए.