पीएम मोदी ने जनता से उन्हें उत्तराखंड में ईमानदार सरकार देने में मदद करने को कहा

उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार को विकास के लिए जरूरी राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी का दोषी ठहराते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प्रदेश की जनता से उन्हें एक ईमानदार सरकार देने में मदद करने को कहा जो ज्यादा से ज्यादा रोजगार पैदा करने में सक्षम पर्यटन और उद्योग क्षेत्र की अपार संभावनाओं का दोहन कर उनके भविष्य को निर्धारित कर सके.

उत्तराखंड में 15 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले यहां औद्योगिक शहर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘अटलजी ने राज्य का विकास करने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा. मैं भी पिछले ढ़ाई सालों से राज्य के लिए कुछ करने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन यहां सत्ता में बैठे लोग केवल अपनी कुर्सी बचाने में ही लगे हैं. उन्हें विकास मे कोई दिलचस्पी नहीं है.

पृथक राज्य निर्माण के समय अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा उत्तराखंड के लिए देखे गए स्वप्न की लोगों को याद दिलाते हुए प्रधानमंत्री ने लोगों से राज्य में बीजेपी की सरकार लाने और उसे अपनी सेवा करने का मौका देने को कहा.

नई दिल्ली में अपनी और राज्य में बीजेपी सरकार के ‘डबल इंजन’ से ही राज्य के कष्टों का निवारण होने का भरोसा दिलाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पार्टी के सत्ता में आने के बाद से किसी भी चीज की कोई कमी नहीं होगी.

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर, बरेली और कानपुर में तीन काउंसिल सीट जीतने से उत्साहित पीएम मोदी ने कहा कि यह उत्तराखंड में 11 मार्च को आने वाले चुनावी नतीजों की शुरुआत है.

पीएम मोदी ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में तीन काउंसिल सीटों पर बीजेपी की विजय इस बात का संकेत है कि उत्तराखंड में क्या होने वाला है. देश के विभिन्न हिस्सों से यहां आकर बसे लोगों ने रुद्रपुर को मिनी इंडिया बना दिया है और यहां उमड़ी भारी भीड. यह संकेत हैं कि हवा किस ओर बह रही है.’

उत्तराखंड को देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले बहादुर सैनिकों की भूमि बताते हुए प्रधानमंत्री ने राज्य की जनता से पूछा कि क्या वह एक ऐसी पार्टी को बर्दाश्त करेंगे जिसने सर्जिकल स्टाइक का सबूत मांगकर सैनिकों को अपमानित किया हो.

उन्होंने कहा, ‘क्या आप एक ऐसी पार्टी को सत्ता में बर्दाश्त कर पाएंगे जिसने सर्जिकल स्टाइक जैसे दुर्लभ सैन्य ऑपरेशन का सबूत मांगा हो. क्या यह हमारे सैनिकों का अपमान नहीं है. क्या यह हमारे देश की शक्ति का अपमान नहीं है.’ प्रधानमंत्री ने जनता के साथ भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा 150 किमी की ऊंचाई पर हवा में मार करने वाली बैलेस्टिक मिसाइल के सफल परीक्षण की खबर भी जनता के साथ साझा की और कहा कि विश्व में केवल चार-पांच देशों को ही ऐसी सफलता मिली है.

मोदी ने कहा कि इस सफलता पर हर भारतीय को गर्व होना चाहिए लेकिन कुछ राजनीतिक दल एक बार फिर इसका भी सबूत मांग सकते हैं. नोटबंदी को भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ संघर्ष के रूप में देखने का जनता से आग्रह करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वह ईमानदार लोगों, गरीबों और मध्यम वर्ग के लिए लड़ रहे हैं.