महिलाओं को कार की तरह घर में पार्क करके रखेंगे तो रेप नहीं होंगे- विधानसभा स्पीकर

आंध्र प्रदेश विधानसभा के स्पीकर कोडेला शिव प्रसाद राव ने महिलाओं को लेकर विवादित बयान दिया है. उन्होंने दो दिन पहले एक प्रेस वार्ता में कहा कि महिलाओं को घरों तक ही सीमित रखा जाए तो उनके साथ रेप नहीं होगा. हालांकि बाद में उन्होंने इस पर सफाई देते हुए कहा कि महिलाओं को अपनी हिफाजत के लिए खुद भी कदम (मार्शल आर्ट वगैरह) उठाने चाहिए.

मीडिया में छपी खबरों के अनुसार- तेलगु देशम पार्टी के नेता और विधानसभा स्पीकर कोडेला ने महिलाओं की तुलना कार से करते हुए कहा कि अगर कार को खरीदकर गैराज में रख दिया जाए तो एक्सीडेंट का डर नहीं रहता. ऐसा पहले समय में होता था जब महिलाएं घर में रहती थीं और कई तरह के जुल्मों से भी महफूज रहती थीं. लेकिन आज वह पढ़ लिखकर बाहर जाती हैं तो छेड़छाड़ और रेप आदि घटनाओं का खतरा ज्यादा बढ़ गया है. अगर वह घर से न निकलतीं तो ऐसा खतरा नहीं रहता.

हालांकि बाद में जब उन्हें अहसास हुआ कि वह गलत बोल गए हैं तो उन्होंने कहा कि मेरा मतलब महिलाओं को घर में रखने से नहीं था. उन्हें पढ़ना-लिखना और नौकरी करनी चाहिए लेकिन अपनी हिफाजत के लिए खुद भी कदम उठाने चाहिए. सिर्फ कानून बनाने से कुछ नहीं होगा.