INDvsBAN Test :अपने टेस्ट करियर का चौथा दोहरा शतक मारकर विराट कोहली आउट, सहवाग का एक रिकॉर्ड तोड़ा, टीम इंडिया 500 रन पार

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली

टीम इंडिया और बांग्लादेश के बीच हैदराबाद के राजीव गांधी क्रिकेट स्टेडियम में खेले जा रहे सीरीज के एकमात्र टेस्ट मैच के दूसरे दिन सबकी नजरें विराट कोहली पर टिकी थीं. विराट कोहली लगातार 4 टेस्ट सीरीज में चौथा दोहरा शतक लगाकर आउट हुए. उन्होंने 204 रन बनाए. कोहली ने लगातार सीरीजों में दोहरे शतक लगाने के मामले में सर डॉन ब्रैडमैन और टीम इंडिया के ही पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ दिया है. इस बीच उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग के एक रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. नीचे पढ़िए कौन-सा है यह रिकॉर्ड. टीम इंडिया ने लंच के बाद 5 विकेट पर 497 रन बना लिए हैं. ऋद्धिमान साहा (11) और आर अश्विन (0) क्रीज पर हैं. गौरतलब है कि 17 साल में पहली बार बांग्लादेश की टीम टेस्ट खेलने भारत आई है. उसे साल 2000 में टेस्ट टीम का दर्जा मिला था. हालांकि दोनों देशों के बीच यह 9वां टेस्ट मैच है..

गौरतलब है कि 17 साल में पहली बार बांग्लादेश की टीम टेस्ट खेलने भारत आई है. उसे साल 2000 में टेस्ट टीम का दर्जा मिला था. हालांकि दोनों देशों के बीच यह 9वां टेस्ट मैच है.

ब्रैडमैन-द्रविड़ को छोड़ा पीछे
विराट कोहली ने लगातार 4 टेस्ट सीरीजों में 4 दोहरे शतक लगाकर रिकॉर्ड बना दिया है. वह लगातार सीरीजों में सबसे अधिक दोहरे शतक लगाने के मामले में नंबर वन पर आ गए हैं. उनसे पहले ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रैडमैन और भारत के राहुल द्रविड़ ने लगातार 3 सीरीज में 3 दोहरे शतक जड़े थे.

विराट ने सहवाग को भी पीछे छोड़ा, ऐसे पहले भारतीय कप्तान
विराट कोहली ने किसी घरेलू सीजन में सर्वाधिक रन बनाने के वीरेंद्र सहवाग के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है. कोहली ने 2016-17 के सीजन में अब तक की 15 पारियों में 1140 से अधिक रन बना लिए हैं, जबकि सहवाग ने 2004-05 में 17 पारियों में 1105 रन बनाए थे. तीसरे नंबर पर इंग्लैंड के ग्राहम गूच हैं, जिन्होंने 1990 के सीजन में 11 पारियों में 1058 रन ठोके थे. गौरतलब है कि पहले दिन विराट ने हैदराबाद में 36 रन बनाते ही एक सीजन में हजार रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था. वह ऐसा करने वाले पहले भारतीय कप्तान और सातवें भारतीय खिलाड़ी हैं. हैदराबाद टेस्‍ट से पहले कोहली ने 2016-17 में 8 टेस्‍ट मैच खेले थे, जिनमें 964 रन बनाए थे. उन्हें 1000 के आंकड़े तक पहुंचने के लिए 36 रन चाहिए थे, जबकि विराट ने इससे कहीं अधिक स्कोर करते करियर का 16वां शतक ही जड़ दिया.

दूसरे दिन लंच तक : रहाणे आउट, कोहली दोहरे शतक के करीब
टीम इंडिया की ओर से दूसरे दिन पहले दिन के नाबाद शतकवीर विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ने पारी को 3 विकेट पर 356 रन से आगे बढ़ाया. कप्तान विराट ने शुरुआत से ही चढ़कर खेलने की कोशिश की और इसमें सफल भी रहे. बांग्लादेश की फील्डिंग एक बार फिर खराब रही और कुछ करीबी मौके गंवा दिए. ऐसे में देखते ही देखते विराट और रहाणे ने टीम का स्कोर 400 रन के पार पहुंचा दिया, वहीं विराट ने अपने 150रन भी पूरे कर लिए. दोनों के बीच 222 रनों की साझेदारी हो चुकी थी, जब अजिंक्य रहाणे 82 रन (11 चौके) पर आउट हो गए. उन्हें ताइजुल इस्लाम की गेंद पर मेहदी हसन मिराज ने शानदार तरीके से लपका.

पहले दिन के खेल का अपडेट
टॉस जीतने के बाद कप्तान विराट कोहली ने पहले बैटिंग का फैसला किया. हालांकि जब लोकेश राहुल महज 2 रन पर बोल्ड हो गए, तो लगा कि कहीं यह फैसला गलत तो साबित नहीं हो जाएगा, लेकिन इसके बाद मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा ने बांग्लादेशी गेंदबाजो को कोई मौका नहीं दिया. दोनों ने धमाकेदार बल्लेबाजी की. मुरली विजय (Murali Vijay) ने टेस्ट करियर का नौवां शतक लगाया और 108 रन बनाए. हालांकि विजय को 35 रन के निजी स्कोर पर जीवनदान भी मिला, जब मेहदी हसन ने रनआउट का आसान मौका गंवा दिया.

चेतेश्वर पुजारा ने 12वीं टेस्ट फिफ्टी बनाई और 83 रन बनाकर आउट हुए. पुजारा-विजय के बीच 178 रन की साझेदारी हुई, जबकि कोहली ने रहाणे के साथ 122 रन की नाबाद साझेदारी की. इससे पहले कोहली ने विजय के साथ 54 रन जोड़े थे. उन्होंने 130 गेंदों में 10 चौकों के साथ करियर का 16वां शतक जड़ा. बांग्लादेश के गेंदबाजों को जब 2 रन पर ही पहली सफलता मिली थी, तो लगा था कि वह टीम इंडिया पर दबाव बनाने में सफल होंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. हालांकि उसकी खराब फील्डिंग का भी इसमें योगदान रहा. तस्कीन अहमद, मेहदी हसन मिराज और ताइजुल इस्लाम ने एक-एक विकेट लिए. टीम इंडिया ने दिन का खेल खत्म होने तक 3 विकेट पर 356 रन बनाए थे. विराट कोहली (111) और अजिंक्य रहाणे (45) नाबाद लौटे.

अश्विन बना सकते हैं रिकॉर्ड
साल 2016 में आईसीसी की ओर से बेस्ट क्रिकेटर ऑफ द ईयर और टेस्ट क्रिकेटर ऑफ द ईयर का खिताब पाने वाले आर अश्विन एक और रिकॉर्ड की दहलीज पर खड़े हैं. यदि वह बांग्लादेश के खिलाफ हैदराबद टेस्ट में दो विकेट और झटक लेते हैं, तो वह सबसे तेजी से 250 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बन जाएंगे. अश्विन के करियर का यह 45वां टेस्‍ट मैच है. सबसे कम मैचों में 250 टेस्‍ट विकेट लेने का रिकॉर्ड ऑस्‍ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज डेनिस लिली के नाम है. लिली ने 48 टेस्ट में यह कमाल किया था.