पीएम मोदी के राहुल गांधी पर भूकंप संबंधी कटाक्ष से हरीश रावत आहत, बोले- शर्म आनी चाहिए

विपक्ष पर प्रहार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भूकंप को लेकर संसद में किए गए कटाक्ष पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मंगलवार को कहा ‘प्रधानमंत्री को खुद पर शर्म’ आनी चाहिए.

पीएम मोदी के भाषण के बाद रावत ने ट्वीट कर कहा, ‘उत्तराखंड में सोमवार रात को भूकंप का मजाक उड़ाते हुए नरेंद्र मोदी को खुद पर शर्म आनी चाहिए.’ लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर दिए भाषण के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ‘भूकंप’ टिप्पणी का उपहास उड़ाते हुए कहा था कि देश ने आखिरकार सोमवार को भूकंप महसूस किया.

पीएम मोदी ने कहा कि वह सोच रहे थे कि भूकंप क्यों आया. उन्होंने कहा, ‘जब कोई स्कैम में सेवाभाव देखता है, स्कैम में नम्रता देखता है तो सिर्फ मां ही नहीं, धरती मां भी दुखी हो जाती है और तब भूकंप आता है.’

.. आखिर भूकंप आ ही गया : मोदी
दरअसल संसद में बोलने देने पर भूकंप आने संबंधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कुछ समय पहले दिये गए बयान पर परोक्ष चुटकी लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आखिर भूकंप आ ही गया. मोदी देश के कुछ क्षेत्रों में सोमवार को आए भूंकप का जिक्र कर रहे थे.

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘कल भूकंप आया. इस भूकंप के कारण जिन जिन क्षेत्रों में असुविधा हुई है, मैं उनके प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं. केंद्र सरकार राज्य के पूरे संपर्क में है. कुछ टीमें वहां पहुंच गई हैं.’

सोमवार के भूकंप को कुछ समय पहले दिये गए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के ‘भूकंप’ वाले बयान से जोड़ते हुए पीएम मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘लेकिन आखिर भूकंप आ ही गया.’ मोदी ने कहा, ‘मैं सोच रहा था कि भूकंप आया कैसे. धमकी तो बहुत पहले सुनी थी. कोई तो कारण होगा. धरती मां रूठ गई होगी.

कांग्रेस उपाध्यक्ष पर परोक्ष निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘जब कोई स्कैम में सेवाभाव देखता है, स्कैम में नम्रता देखता है तो सिर्फ मां ही नहीं, धरती मां भी दुखी हो जाती है और तब भूकंप आता है.’

उल्लेखनीय है कि कुछ समय पहले राहुल गांधी ने कहा था कि उन्हें संसद में बोलने नहीं दिया जा रहा है और जब ‘मैं बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा.’