उत्तराखंड में 15 को मतदान, एक हफ्ते पहले प्रचार अभियान ने पकड़ी तेजी

उत्तराखंड में 15 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए राज्य में प्रचार अभियान में तेजी आती जा रही है और इसी कड़ी में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह तथा केंद्रीय मंत्रियों नितिन गडकरी और पीयूष गोयल ने कई जनसभाएं कर बीजेपी प्रत्याशियों के लिये वोट मांगे.

नई टिहरी में उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार को ‘प्रदेश को लूटने वाली’ सरकार बताते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को जनता से उसे उखाड़ फेंकने का आग्रह किया तथा कहा कि पूरे देश के लोग भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए बीजेपी के पक्ष में लामबंद हो गए हैं.

राज्य में 15 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले टिहरी जिले के घनसाली में पार्टी प्रत्याशी शक्तिलाल शाह के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि बीजेपी ने उत्तराखंड की नीव रखी थी, जबकि कांग्रेस इसके विरोध में थी.

राज्य में हरीश रावत के नेतृत्व वाली सरकार में भूमाफिया, खनन माफिया तथा शराब माफिया का राज होने की बात कहते हुए अमित शाह ने कहा कि आज केंद्र सरकार से जो भी पैसा राज्य को आता है वह भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है और यह प्रदेश को लूटने वाली सरकार है.

उत्तराखंड की जनता से चुनाव में प्रदेश को लूटने वाली कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने का आग्रह करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पूरे देश के लोग भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए बीजेपी के साथ लामबंद हो गए हैं. केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए शाह ने कहा कि केवल बीजेपी ही उत्तराखंड का विकास कर सकती है.

नई टिहरी के अलावा, शाह ने पौड़ी और रामनगर में भी जनसभाएं कीं और राज्य की जनता से बीजेपी को सत्ता में लाने का आग्रह किया. शाह के अलावा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी गोपेश्वर, अगस्तमुनि और बीरोंखाल मे जनसभाएं कीं, जहां उन्होंने लोकसभा सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूरी के साथ बीजेपी प्रत्याशियों के लिए जनता का समर्थन मांगा.

गडकरी ने विश्वास जताया कि जनता चुनावों में भाजपा को बहुमत देकर उसे विजयी बनाएगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने ही उत्तराखंड बनाया था और अब वह ही उसका विकास कर उसे देश के प्रगतिशील और समृद्धशाली राज्यों में से एक बनाएगी.