अलीगढ़ में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- विकास का मतलब, बिजली, कानून और सड़क

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2017 को लेकर जोर-शोर से राजनीतिक पार्टियां दम लगा रही हैं. इसी सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अलीगढ़ में एक चुनावी रैली को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि वह कल भी राज्य में आए थे. चुनाव अहम है. उन्होंने कहा कि 2014 में अलीगढ़ के इसी मैदान में रैली थी. मैदान आधा भी नहीं भरा था. आज काफी लोग आए हैं. पीएम मोदी ने कहा कि यूपी की जनता परिवर्तन चाहती है. बीजेपी की आंधी है, इसलिए यूपी के सीएम ने गठबंधन किया है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोगों को न्याय दिलाने के लिए यह चुनावी लड़ाई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में सरकार बनने के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई शुरू कर दी. किसी की परवाह किए बिना भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम उठाए जा रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि बेईमानों को छोड़ा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार अब हिसाब मांग रही है. उन्होंने कहा कि लोगों को कई जरूरतों के लिए सरकार से मदद के रुपये में पैसा मिलता होगा. उन्होंने कहा कि हमने बैंक अकाउंट के जरिए पैसे देने का नियम लागू किया. आधार कार्ड से जोड़ने को कहा. इसके बाद कई घोटाले सामने आए हैं. हमने कई योजनाओं में लोगों को सीधे पैसे पहुंचाने की व्यवस्था की है.

पीएम मोदी ने कहा कि 40000 करोड़ रुपये जो हर वर्ष चूहे खा जाते थे, उसे बचा लिया गया. अब यह पैसा गरीब के काम आएगा. इसलिए रोजगार पैदा करने में मदद मिलेगी. पीएम मोदी ने गठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह लोग चुनाव जीतने के लिए, भ्रष्टाचार के लिए साथ आए हैं. इन लोगों को डर है कि कहीं ऐसे कानून न बना दें कि चोर लुटेरे बच नहीं पाएंगे.

पीएम मोदी ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि इस आदेश पर तूफान सा मच गया. अब सबको घर में रखा पैसा बैंक में जमा कराना पड़ा. पीएम ने कहा कि बैंक में जमा करने से काला सफेद नहीं हुआ है. अभी जांच होगी. पीएम मोदी ने कहा कि पैसे गरीब के काम आए इस दिशा में काम हो रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि पहले अलीगढ़ के ताले पूरे हिंदुस्तान में बिकते थे. लेकिन, पिछले कई सालों में यूपी में ऐसी सरकारें रहीं कि अलीगढ़ का ताला यहीं का रह गया. यहां के कारखानों में ही ताला लग गया. क्योंकि लखनऊ में बैठी सरकार बिजली नहीं दे पाई.

विकास की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विकास का मतलब है, विद्युत (बिजली), कानून व्यवस्था और सड़क की व्यवस्था की जाएगी. पीएम मोदी ने नौकरियों में हुई धांधली का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार में इसे ठीक किया जाएगा. रिश्वत के चलन को बंद किया जाएगा. इस लूट को बंद किया जाना चाहिए. पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने वर्ग तीन-चार में इंटरव्यू को खत्म कर दिया. इससे भ्रष्टाचार गया, जातिवाद गया, भाई भतीजावाद भी गया. इससे करोड़ों लोगों की जिंदगी बनी. दिल्ली की सरकार यह कर सकती है तो यूपी सरकार क्यों नहीं कर सकती.

केंद्र ने इस बारे में उत्तर प्रदेश सरकार से बार-बार कहा लेकिन ऐसा नहीं हुआ. नौकरी पाने के लिए क्या किसी जाति में जन्म लेना जरूरी है. जाति के आधार पर यूपी में नौकरी में भ्रष्टाचार हुआ है. यूपी के नौजवानों को न्याय मिलेगा. देश ऐसे नहीं चलेगा.

यूपी में सूरज ढलने के बाद बहन बेटी और महिलाओं को घर से निकलने में डर लगता है. राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यूपी में ऐसे राजनेताओं को हटाएं जो गंडागर्दी को प्रश्रय देते हैं. पीएम मोदी ने कहा कि परेशान आदमी थाने में नहीं जाते. क्योंकि गुंडागर्दी करने वाले नेता के करीबी हैं, पुलिस उसकी ही पिटाई कर देती है. यूपी को बदलना है.

उन्होंने कहा कि पहले गैस कनेक्शन के लिए दिक्कत होती थी. भ्रष्टाचार था, अब किसी बिचौलिए की जरूरत नहीं है. करोड़ों माताओं को चूल्हे में खाना बनाना होता था, अब महिलाओं को गैस कनेक्शन दिए जाते हैं. पहले सांसदों को कूपन मिलते थे. उनके पास लोग कतार लगाते थे. अब सब बंद हो गए हैं. एक करोड़ 80 लाख गरीब लोगों को गैस के कनेक्शन मुफ्त में दिए गए हैं.

गांवों ने बिजली पहुंचाने की बात का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सबसे ज्यादा गांव यूपी के थे जहां आजादी के इतने साल बाद भी बिजली नहीं थी. अब केवल 50-60 गांव ऐसे हैं जहां बिजली नहीं पहुंची है. यह भी जल्द पूरा हो जाएगा. पीएम मोदी ने गन्ना किसानों की समस्या का भी जिक्र किया.

यूपी बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता इस मौके पर पीएम के साथ मंच साझा किया. 2012 के विधानसभा चुनाव में यहां की सातों सीटों पर बीजेपी की हार हुई थी. हालांकि 2014 लोकसभा चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार को अलीगढ़ लोकसभा सीट पर भारी अंतर से जीत मिली थी.

बता दें कि शनिवार को मेरठ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली को संबोधित किया था. पीएम मोदी ने कहा था कि यह चुनाव स्कैम के खिलाफ भाजपा की लड़ाई है. घोटालों से लड़ाई है. स्कैम (SCAM) समाजवादी, कांग्रेस, अखिलेश और मायावती. उन्होंने कहा कि यूपी तय करे कि आपको स्कैम चाहिए या कमल चाहिए. आपको स्कैम चाहिए या यूपी का विकास चाहिए. आपको स्कैम चाहिए या रोजगार.

मोदी के ‘स्कैम’ शब्द के इस्तेमाल के बाद अखिलेश यादव ने भी कानपुर देहात में की गई रैली में इसका जवाब दिया. अखिलेश यादव ने कहा कि – ”SCAM’ शब्द में ए और एम का अर्थ अमित शाह और मोदी है और दरअसल स्कैम का पूरा मतलब है – सेव कंट्री फ्रॉम अमित शाह एंड मोदी’ है. इस रैली में अखिलेश ने नोटबंदी के मुद्दे को जमकर उठाया. यादव ने चुनावी सभा में सवालिया लहजे में पूछा कि 2000 रुपये का नोट कैसा है? ऐसा बुरा रुपया हमने कभी नही देखा. 2000 रुपया भी है कम से कम हम समाजवादियों से पूछ लेते कि 2000 रुपये का नोट कैसे छपवाना है.