तमिलनाडु में शशिकला के CM बनने की अटकलें हुईं तेज, अगले हफ्ते ले सकती हैं शपथ

अन्नाद्रमुक के विधायकों की रविवार को होने वाली बैठक में पार्टी महासचिव वीके शशिकला को मुख्यमंत्री बनाने की मांग जोर पकड़ सकती है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, यह बैठक रविवार दोपहर में हो सकती है. हालांकि, सूत्रों ने बैठक के एजेंडे से संबंधित किसी भी सूचना की पुष्टि करने से इन्कार कर दिया. उन्होंने तो इस बात से भी इन्कार किया कि बैठक में पार्टी विधायक शशिकला से मुख्यमंत्री पद संभालने का अनुरोध कर सकते हैं.

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘यह सब महज आपकी कल्पना और अटकलबाजी है. ‘बता दें कि पिछले साल दिसंबर में जे. जयललिता के निधन के बाद से यह मांग जोर पकड़ती रही है कि पूर्व की परिपाटी के मुताबिक पार्टी महासचिव को ही राज्य के मुख्यमंत्री का पद संभालना चाहिए.

झगड़ा निपटाना चाहती है पार्टी
सूत्रों के मुताबिक, AIADMK पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के देहांत के बाद पार्टी में उपजे सत्ता के दो केंद्रों का विवाद खत्म करना चाहती है. पार्टी इसके लिए अब शशिकला को सीएम बनाकर विवाद हल करना चाह रही है. आपको बता दें कि शशिकला राज्य की दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता की काफी करीबी सहयोगी थीं और उनके समर्थक भी इसी तर्क का हवाला देकर उन्हें सीएम पद का असल हकदार बताते हैं.

पन्नीरसेल्वम के कतरे पर
उधर पन्नीरसेल्वम के करीबी माने जाने वाले कई नौकरशाहों के हटाए जाने से भी मौजूदा मुख्यमंत्री के पर कतरे जाने का संकेत मिलता है. ऐसी ही अधिकारी शीला बालकृष्णन हैं, उन्होंने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. वे तमिलनाडु सरकार की सलाहकार थीं और बीमारी की वजह से जयललिता के अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान उन्होंने ही राजकाज संभाला था. इसके अलावा मुख्यमंत्री के दो सचिव के एन वेंकटारमन और ए रामालिंगम ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

अम्मा के बाद अब चिनम्मा
शशिकला को राज्य की कमान मिलने संकेत काफी पहले ही मिल गए थे, जब पार्टी की ओर से जारी की गई प्रेस विज्ञप्तियों में उन्हें चिनम्मा (छोटी अम्मा) कहकर संबोधित किया गया है. बता दें कि राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता को उनके समर्थक आदर भाव से अम्मा कह कर पुकारते थे. ऐसे में पार्टी द्वारा उन्हें चिनम्मा कहा जाना जयललिता के उत्तराधिकार पर उनके दावे पर मुहर लगाता है.