वित्तमंत्री अरुण जेटली ने किया भाजपा का ‘दृष्टि पत्र-2017’ जारी

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के चलते केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, प्रदेश चुनाव प्रभारी व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा, प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू, प्रदेश अध्यक्ष अजय भïट्ट, दृष्टि पत्र समिति के अध्यक्ष बची सिंह रावत समेत राज्य के सभी सांसदों व शीर्ष प्रांतीय नेताओं की मौजूदगी में भाजपा का दृष्टि पत्र-2017 जारी किया गया।

भाजपा ने दृष्टि पत्र में शिक्षा के विकास के लिए मेधावी छात्रों के लिए लैपटॉप व स्मार्ट फोन, निशुल्क शिक्षा, अस्थाई कर्मियों के समायोजन, रिक्त पदों पर तैनाती, संस्कृत ज्योतिष, कर्मकांड में शोध और छात्राओं के लिए आवासीय विद्यालयों की घोषणाएं शामिल की हैं।

इसके बाद स्वास्थ्य के तहत सचल चिकित्सा सेवा, टेली मेडिसिन, नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना, बीपीएल के लिए स्वास्थ्य कल्याण कार्ड, ट्रॉमा सेंटर स्थापित करने, सस्ती दवाओं के केंद्र और एयर एंबुलेंस को जगह दी गई है। पर्यटन और तीर्थाटन के तहत भाजपा ने वीरचंद्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना का दायरा बढ़ाने, स्थानीय कौशल आधारित हस्तशिल्प, होम स्टे, मेडिकल टूरिज्म, लोक कलाकारों के प्रोत्साहन, पर्यटन गाइड प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना पर ध्यान दिया है।

इस मौके पर भाजपा सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूड़ी, डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, भगत सिंह कोश्यारी के अलावा सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत, राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी, पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल, प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ. देवेंद्र भसीन, महानगर अध्यक्ष उमेश अग्र्रवाल, पुनीत मित्तल आदि मौजूद थे।

कृषि को राज्य में विकसित करने के लिए जैविक खेती, जड़ी-बूटी व फूलों की खेती, पशुपालन व कृषि को लाभकारी बनाने, विपणन केंद्रों और कोल्ड स्टोरेज, वर्षा जल संग्रहण, श्वेत क्रांति, ब्याजमुक्त फसली ऋण आदि पर मतदाताओं का ध्यान खींचा है। बुनियादी विकास के तहत 24 घंटे बिजली, रियायती दर पर बिजली, लघु जलविद्युत परियोजना को प्रोत्साहन, नियमित हवाई सेवा, सड़कों का विकास आदि पर को दृष्टि पत्र का हिस्सा बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि मोदी जी का संकल्प तेजी से विकास का है। केंद्र और राज्य सरकार जब मिलके काम करते है तो विकास में तेजी आती है। किसी भी राज्य के विकास में दोनों की संयुक्त जिम्मेदारी है। उन्होंने देश की सुरक्षा और आर्थिक गतिविधियां केंद्र की मदद से होती है। राज्यों के विकास में केंद्र की भूमिका भी अहम है। इसमें किसी भी राज्य में स्थायी राजनीति जरूरी है।

राज्य में 57 फीसद से ज्यादा युवा मतदाता हैं। ऐसे में भाजपा ने अपने दृष्टि पत्र में युवाओं पर फोकस किया है। राज्य के विकास में युवाओं की भूमिका के लिए युवा नीति तैयार करने, निशुल्क कोचिंग, उच्च शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति, ब्याज रहित शिक्षा ऋण, निशुल्क यात्रा, रिक्त पदों पर पदोन्नति और तैनाती, जल क्रीड़ा व शीतकालीन खेलों, खिलाडिय़ों को सुविधाएं, स्वरोजगार और रोजगार के नए अवसर, आधुनिक कौशल विकास केंद्रों की स्थापना को केंद्र में रखा गया है।

इसी तर्ज पर दृष्टि पत्र में कहा गया है कि सशक्त नारी और समान अधिकार, महिला के विरुद्ध अपराधों पर रोकथाम के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट, कामकाजी महिलाओं के छात्रावास स्थापित किए जाएंगे। समाज के सभी तबकों पर समान दृष्टि भाजपा ने इस पत्र में दिखाने की कोशिश की है। इसके तहत अनुसूचित जाति, जनजाति व पिछड़ों के रिक्त पदों पर तैनाती, दिव्यांगों के रिक्त पदों पर तैनाती, कन्या विवाह के लिए अनुदान राशि, शिल्पकारों को प्रोत्साहन, मदरसों को आधुनिक बनाने, वक्फ बोर्ड को मजबूत करने पर पर फोकस किया गया है।

राजधानी के मुद्दे पर भाजपा ने गैरसैंण को ग्र्रीष्मकालीन राजधानी बनाने पर सबकी सहमति तैयार करने का संकल्प लिया है। इनके साथ ही उद्योग और व्यापार के तहत प्रदेश में निवेश को सरल किए जाने, राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय विनिवेश मेलों के आयोजन, खनन की स्पष्ट नीति, असंगठित श्रमिकों के लिए विशेष योजना, भ्रष्टाचार और स्वच्छ प्रशासन के लिए लोकायुक्त की तैनाती, लोक सेवक स्थानांतरण अधिनियम, ई-गवर्नेंस, आर्थिक अपराधों के लिए विशेष न्यायालय, ई-टेंडरिंग एंटी करप्शन सेल, स्पेशल हेल्पलाइन को भाजपा ने दृष्टि पत्र में जगह दी है।

कर्मचारी कल्याण, दिव्यांग कल्याण, आपदा प्रबंधन, पीडि़तों का विस्थापन, पुनर्वास, पलायन, नशाखोरी, वरिष्ठ नागरिकों और महिलाओं, पर्यावरण, ग्र्रामीण विकास आदि को भी दृष्टि पत्र का हिस्सा बनाया गया है।