उत्तराखंड आंदोलन में अग्रणी नेता रहे पूर्व मंत्री दिवाकर भट्ट बीजेपी से निष्कासित

उत्तराखंड में देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री दिवाकर भट्ट को बीजेपी ने गुरुवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया.

उत्तराखंड प्रदेश बीजेपी मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन ने अस्थायी राजधानी देहरादून में बताया कि प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के निर्देश पर पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ने के कारण भट्ट को तत्काल प्रभाव से पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है.

पिछले काफी समय से भट्ट को नाम वापसी के लिए मनाने की कोशिशें की जा रही थीं, लेकिन बुधवार को नाम वापसी की आखिरी तारीख गुजर जाने के बाद शुक्रवार को पार्टी ने उनके खिलाफ यह कार्रवाई की है.

देवप्रयाग से बीजेपी ने विनोद कंडारी को अपना उम्मीदवार बनाया है. पृथक राज्य की मांग को लेकर हुए आंदोलन के अग्रणी नेताओं में शुमार भट्ट राज्य की भुवन चंद्र खंडूरी के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार के समय सहयोगी उत्तराखंड क्रांति दल (यूकेडी) के कोटे से सिंचाई मंत्री थे.

बाद में साल 2012 में वह बीजेपी में शामिल हो गए और देवप्रयाग से विधानसभा चुनाव लड़ा. हालांकि, निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़े मंत्री प्रसाद नैथानी के हाथों उन्हें हार का सामना करना पड़ा.