धुलागढ़ में जो हुआ सांप्रदायिक हिंसा नहीं, सोशल मीडिया गलत बात फैला रहा है : ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि हावड़ा जिले के धुलागढ़ में कोई साम्प्रदायिक झड़प नहीं हुई है और उन्होंने इसे ‘स्थानीय समस्या’ बताया.

राज्य सचिवालय पर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘यह छोटी-मोटी बात है. यह स्थानीय समस्या है. वह साम्प्रदायिक समस्या नहीं थी. मैं पुलिस के बयान के साथ हूं.’ मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को दिन में धुलागढ़ में किसी प्रकार का दंगा होने से इनकार किया था और आरोप लगाया था कि सोशल मीडिया पर ‘गलत सूचना’ दी जा रही है.

ममता ने कहा, ‘पिछले 15 दिनों से सोशल मीडिया ऐसी घटना पर गलत सूचना दे रही है, जो हुई ही नहीं है.’ उन्होंने राज्य सचिवालय से महज 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित धुलागढ़ में इस महीने के आरंभ में हुई हिंसा की खबरों के बारे में उक्त बात कही.

उन्होंने कहा, ‘खबर ब्रेक करने के प्रयास में किसी को गैर-जिम्मेदारी से काम नहीं करना चाहिए. यदि वाकई कुछ हुआ है, तो आपको (मीडिया) उसे दिखाने का पूर्ण अधिकार है, लेकिन मुझे लगता है कि मौके का मुआयना किया जाना चाहिए.’

ममता की यह टिप्पणी आने से पहले, सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को कहा था कि धुलागढ़ हिंसा में लिप्त लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी और पीड़ितों को मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि यदि एक परिवार का मकान क्षतिग्रस्त होता है या वे प्रभावित होते हैं तो उनकी मदद को सबसे पहले राज्य सरकार आगे आती है.

उन्होंने कहा, ‘यदि कोई घटना होती है, तो हम तुरंत परिवार की मदद करते हैं. हम यह मानवीय आधार पर करते हैं, लेकिन हम कोई प्रचार नहीं करते.’