2016 को कहें अलविदा, साल 2017 की झोली में है ये सब…

आने वाले साल 2017 में राजनीतिक मोर्चे पर पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव, नोटबंदी का असर, जीएसटी का कार्यान्वयन, फीफा अंडर 17 वर्ल्ड कप, क्रिकेट चैंपियन्स ट्रॉफी से लेकर ‘रईस’, ‘काबिल’, ‘बाहुबली-2’ तथा ‘टॉयलेट एक प्रेमकथा’ आदि फिल्मों की रिलीज सहित बहुत कुछ होना है.

अगले साल के शुरू में उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने हैं. निश्चित रूप से इन चुनावों में नोटबंदी मुख्य मुद्दा होगा. नोटबंदी को लेकर सरकार को निशाने पर रखते हुए लामबंद हो रहे विपक्ष ने इसे जनविरोधी कदम बताया है. उसके तेवर स्पष्ट कर रहे हैं कि वह इसे मुख्य चुनावी मुद्दा बनाएगा.

कांग्रेस नोटबंदी के खिलाफ पांच जनवरी से देशव्यापी प्रदर्शन करने का ऐलान कर चुकी है. वहीं बीजेपी के शीर्ष स्तर पर भी सवाल है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह ‘दुस्साहसी कदम’ कहीं खुद बीजेपी पर ही भारी न पड़ जाए. उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में बीजेपी की साख दांव पर है. मणिपुर में वह कभी सत्ता में नहीं रही, लेकिन वहां पार्टी क्षेत्रीय दलों से गठजोड़ कर सत्ता पर नजर बनाए हुए है.

पंजाब और गोवा में आप की मौजूदगी ने परंपरागत चुनावी समीकरण बिगाड़ रखा है. दोनों ही राज्यों में बीजेपी सत्ता में है और कांग्रेस उसकी परंपरागत प्रतिद्वन्द्वी है. मुंबई में अगले साल के शुरू में नगर निगम चुनाव होने हैं, जिसकी तैयारी शुरू हो चुकी है और नोटबंदी तथा काले धन के मुद्दे पर बीजेपी और शिवसेना के बीच पोस्टर युद्ध जारी है.

अबुधाबी के शहजादे मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान अगले वर्ष भारत के गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि होंगे. यूएई के सशस्त्र बलों के डिप्टी सुप्रीम कमांडर अल नाहयान की यात्रा से कारोबार और सुरक्षा समेत दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को और गति मिलने की उम्मीद है. यह यात्रा इसलिए भी महत्वपूर्ण होगी क्योंकि यूएई और पाकिस्तान करीबी सहयोगी हैं और सीमापार आतंकवाद को लेकर भारत, पाकिस्तान के रिश्ते तनावपूर्ण हैं.

वर्ष 2017 में पहली बार आम बजट फरवरी के आखिरी दिन पेश होने के बजाय फरवरी के शुरू में पेश किया जाएगा. सरकार चाहती है कि अप्रैल से पहले ही बजट पारित हो जाए और एक अप्रैल को वित्तीय वर्ष की शुरुआत होने के दिन से ही उस पर अमल शुरू हो जाए. इससे पहले मई में पूरा बजट पारित होता था और जून से उस पर वास्तविक अमल हो पाता था.

वर्ष 2017 में पहली बार रेल बजट अलग से पेश नहीं होगा, बल्कि इसे आम बजट के एक हिस्से के तौर पर पेश किया जाएगा. अब तक रेल बजट अलग से पेश होता रहा है. लेकिन इस बार सरकार ने आम बजट और रेल बजट को मिलाकर पेश करने का फैसला किया है.

सरकार ने बजट में योजना और गैर-योजना बजट जैसे वर्गीकरण में भी बदलाव लाने का फैसला किया है. इसके स्थान पर बजट वर्गीकरण राजस्व और पूंजी व्यय के तौर पर होगा.

वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) अगले साल लागू होगा. सरकार का इरादा इसे एक अप्रैल 2017 से अमल में लाने का है लेकिन यह समयसीमा पूरी होती नहीं दिखती. जीएसटी लागू करने के लिए अभी केन्द्रीय जीएसटी, राज्य जीएसटी और एकीकृत जीएसटी विधेयकों को पारित कराया जाना है. केन्द्र और राज्यों के बीच करदाता इकाइयों पर अधिकार का मुद्दा भी अभी सुलझा नहीं है. उम्मीद की जा रही है कि एक जुलाई 2017 से जीएसटी लागू हो जाएगा.

वैश्विक अर्थव्यवस्था में भी कई अहम बदलाव आने वाले साल में होंगे. ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के फैसले पर वास्तविक अमल अभी होना बाकी है. उसके बाद यूरोप और ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में कई अहम् बदलाव होंगे.

अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति संभालने के बाद आर्थिक नीतियां किस करवट बैठती हैं इस पर दुनिया की नजर होगी. डालर अभी से मजबूत होने लगा है. ट्रंप कह चुके हैं कि दूसरे देशों के लोगों को नौकरी पर रखने वाली कंपनियों को अधिक कर देना होगा.

कच्चे तेल के दाम पिछले कुछ सालों से नीचे रहने के बाद अब फिर से मजबूती की तरफ बढ़ रहे हैं. तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक ने कच्चे तेल उत्पादन में कटौती का फैसला किया है. रूस और दूसरे तेल उत्पादक देशों की भी इसमें सहमति बनी है. कच्चे तेल उत्पादन में कटौती के फैसले से इसके दाम 50 डालर से ऊपर पहुंच गए हैं. कच्चे तेल के दाम बढ़ने के भारत, चीन सहित दुनिया के अधिक खपत वाले देशों पर काफी असर पड़ेगा.

खेल प्रेमियों के लिए अगले साल भारत में आयोजित होने जा रहा फुटबॉल का फीफा अंडर 17 वर्ल्ड कप, क्रिकेट में चैम्पियन्स ट्रॉफी तथा भारत इंग्लैंड के बीच एक दिवसीय क्रिकेट सीरीज, हॉकी में वर्ल्ड लीग, टेनिस में चेन्नई ओपन तथा इंडियन प्रीमियर लीग प्रमुख आकर्षण होंगे.

विश्व मंच पर नए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस एक जनवरी से अपना पदभार संभालेंगे. पुर्तगाल के 67 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री एंटोनियो गुटेरेस ने वैश्विक संकटों से निबटने के लिए 71 वर्षीय वैश्विक निकाय की क्षमता सुधारने के वास्ते उसमें सुधार करने, उसे विकेंद्रीकृत करने एवं लचीला बनाने का निश्चय जाहिर किया है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव के रूप में बान की मून का पांच साल का दूसरा कार्यकाल 31 दिसंबर को पूरा हो जाएगा.

नए वर्ष का इंतजार इस साल एक सेकेंड लंबा हो जाएगा क्योंकि अमेरिकी नौसेना पर्यवेक्षणशाला ने घोषणा की है कि इस साल 31 दिसंबर को 23 बजकर 59 मिनट और 59 सेंकेड पर विश्व भर की घड़ियों में समन्वित सार्वभौम समय में एक अतिरिक्त सेकेंड जोड़ा जाएगा. यह काम भारतीय मानक समयानुसार एक जनवरी 2017 को सुबह 4 बज कर 29 मिनट और 59 सेकंड पर किया जाएगा. इस समय वाशिंगटन डीसी में अमेरिकी नौसेना पर्यवेक्षणशाला की मास्टर क्लॉक सुविधा में एक अतिरिक्त सेकेंड जोड़ा जाएगा.

मनोरंजन जगत की बात करें तो नए साल में शाहरुख खान की फिल्म ‘रईस’ और ‘द रिंग’, रितिक रोशन की ‘काबिल’, अक्षय कुमार की ‘जॉली एलएलबी-2’ और ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’, अमिताभ बच्चन की ‘सरकार-3’, रणवीर कपूर की ‘जग्गा जासूस’ और सलमान खान की ‘ट्यूबलाइट’ तथा ‘टाइगर जिंदा है’ आ रही हैं.

अजय देवगन ‘बादशाहो’ तथा ‘गोलमाल अगेन’ के जरिए अपनी उपस्थिति दिखाएंगे, वहीं इतिहास आधारित ड्रामा ‘पद्मावती’ में दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह, शाहिद कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन के अभिनय के जौहर देखने को मिलेंगे.