अरुणाचल में फिर राजनीतिक उठापटक, मुख्यमंत्री सहित 7 पार्टी से निलंबित

अरुणाचल प्रदेश में तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) ने मुख्यमंत्री पेमा खांडू, उप-मुख्यमंत्री चोवना मेन और पांच अन्य विधायकों को कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण गुरुवार देर रात प्राथमिक सदस्यता से अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया.

पार्टी के जिन पांच विधायकों को निलंबित किया गया है, वे जेम्बी टाशी (लुमला), पासांग दोरजी सोना (मेचुका), चोव तेवा मेन (चोखाम), जिंगनू नामचोम (नामसाई) और कामलुंग मोसांग (मियाओ) हैं.

पीपीए अध्यक्ष काहफा बेंगिया ने एक आदेश में कहा कि पार्टी के संविधान और 20 दिसंबर को कार्यकारी समिति की बैठक में पारित प्रस्ताव के जरिए मिले अधिकार के तहत विधायकों को अस्थायी तौर पर प्राथमिक सदस्यता से तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है.

बेंगिया ने कहा कि प्रथम दृष्टया इन साक्ष्यों से वह संतुष्ट थे कि ये लोग ‘पार्टी विरोधी’ गतिविधियों में शामिल हैं. आदेश में आगे कहा गया है कि निलंबन के साथ खांडू अब पीपीए विधायक दल के नेता नहीं रहे.

उन्होंने पार्टी विधायकों और पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे खांडू की ओर से बुलाई गई किसी बैठक में शामिल नहीं हों तथा आदेश की अहवेलना करने वाले सदस्य को पार्टी की अनुशासनात्मक कार्रवाई का सामना करना होगा.

विधानसभा अध्यक्ष टी. नोरबू थोंगडोक को भेजे पत्र में बेंगिया ने उनसे आग्रह किया कि वह निलंबित किए गए विधायकों को सदन के असंबद्ध सदस्य घोषित कर दें तथा सदन में अलग बैठने की व्यवस्था करें. उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से यह भी आग्रह किया कि वह इस घटनाक्रम के बारे में राज्यपाल को सूचित करें.