चुनावों में शराब पर लग सकता है पूरी तरह प्रतिबंध, हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग को दिए आदेश

नैनीताल। उत्तराखंड हाई कोर्ट में आगामी विधान सभा चुनाव के दौरान राज्य में मद्य निषेध से लागू करने की मांग को लेकर दायर याचिका की सुनवाई करते हुये चुनाव आयोग से याची के प्रत्यावेदन पर नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिये है।

मामले के अनुसार देहरादून निवासी उत्तराखंड आंदोलनकारी सम्मान परिषद के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र जुगरान ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कहा है कि उन्होंने चुनाव के दौरान उत्तराखंड में पूर्ण मद्य निषेध करने को लेकर राष्ट्रपति, मुख्य चुनाव आयुक्त, उत्तराखंड के राज्यपाल, चुनाव आयुक्त उत्तराखंड को प्रत्यावेदन देकर मांग की है कि चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी अपने नामांकन के साथ एक घोषणा पत्र दाखिल करें जिसमें शराब का प्रयोग न करने व मतदाताओं को प्रभावित करने के लिये शराब नहीं बांटने का उल्लेख हो और यदि कोई प्रत्याशी शराब बांटते हुये पाया गया तो उसका नामांकन रद कर दिया जाये।

न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजीव शर्मा व न्यायमूर्ति सुधांशु धुलिया की खंडपीठ ने मामले को सुनने के बाद चुनाव आयोग को याची के प्रत्यावेदन पर नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा है।