केदारनाथ आपदा के दौरान स्कूटर मामले की होगी न्यायिक जांच : मुख्यमंत्री हरीश रावत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में बीजेपी की परिवर्तन महारैली के दौरान ‘उत्तराखंड में स्कूटर भी पैसा खाता है’ की बात कहकर भ्रष्टाचार की जो बात की थी, अब उस मामले में अब न्यायिक जांच होगी.

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बुधवार को बीजापुर गेस्ट हाउस में आयोजित पत्रकारवार्ता में कहा कि पीएम मोदी द्वारा स्कूटर की टंकी में 35 लीटर तेल डलवाने की बात कहकर भ्रष्टाचार की जो बात जनसभा में कही गई, इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की जा चुकी है.

आपदा के पैसे का दुरुपयोग का संदेश देश-विदेश में जाता है. आपदा जैसे मामलों पर नियमों से ऊपर जाकर फैसले लेने पड़ते हैं. हरदा ने कहा कि पीएम द्वारा ये बात कहने के बाद अब ये मामला और भी गंभीर हो जाता है, इसलिए सरकार चंडीगढ़ के रिटायर जज एमएस चौहान से इसकी जांच करवाएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा, जांच के लिए छह महीने का वक्त तय किया गया है. जांच आपदा के दौरान लापरवाही या आपदा के पैसों का दुरुपयोग करने के मामले की होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि न्यायिक जांच केवल सूचना आयुक्त द्वारा रेखांकित बिंदु के आधार पर की जाएगी.

सीबीआई जांच करवाने के सवाल पर सीएम ने कहा कि सीबीआई की निष्पक्षता पर संदेह है, इसलिए इस प्रकरण की ज्यूडिशियल जांच करवा रहा हूं. वैसे प्रधानमंत्री मोदी को इन मामलों की खुद अंदरूनी जांच करवानी चाहिए थी, आपदा के दौरान के सभी लोग अब बीजेपी में जा चुके हैं.