‘नोटबंदी ने आतंकियों को मिलने वाले पैसे, मानव व ड्रग्स तस्करी पर भी चोट की’

बड़े कॉरपोरेट घरानों और अमीर लोगों की मदद करने के राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार गरीबों के लिए काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है. उन्होंने जोर देकर यह भी कहा कि नोटबंदी से एक ही झटके में कालाधन, आतंकवादियों को मिलने वाले पैसे और मानव एवं ड्रग्स तस्करी पर चोट पड़ी है.

नोटबंदी का विरोध कर रही पार्टियों को निशाना बनाते हुए पीएम मोदी ने दावा किया कि कुछ लोग निराश हैं, क्योंकि उनके फैसले से ‘चोरों के सरदार’ पर हमला हुआ है.

उत्तराखंड, जहां अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, में बीजेपी की ‘परिवर्तन महारैली’ को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि सब्सिडी वाले गैस सिलिंडरों की संख्या नौ से बढ़ाकर 12 करने के यूपीए सरकार के फैसले को किसी बड़े निर्णय की तरह पेश किया गया, जबकि उनकी सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे के पांच करोड़ लोगों को गैस सिलिंडर दिए.

उन्होंने कहा, ‘18,000 गांवों के लोग बगैर बिजली के रह रहे थे. हमने एक हजार दिन में वहां बिजली पहुंचाने का लक्ष्य तय किया था. एक हजार दिन तो अभी नहीं हुए, लेकिन हमने 12,000 गांवों में बिजली पहुंचा दी. बाकी 6,000 गांवों में बिजली पहुंचाने का काम चल रहा है. यह काम अमीरों के लिए किया जा रहा है या गरीबों को सशक्त बनाने के लिए?’

मोदी ने कहा कि 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को अमान्य करने के फैसले से अल्मारियों में और गद्दे के नीचे रखा गया कालाधन अब बैंकों में आ रहा है. उन्होंने कहा कि वह देश को बर्बाद कर चुके ‘काले धन और काले मन’ से निजात दिलाने के लिए चौकीदार की ड्यूटी निभा रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने गरीबी रेखा के नीचे आने वाले घरों में रसोई गैस का मुफ्त कनेक्शन मुहैया कराने और राज्य के दूरदराज के पर्वतीय इलाकों में महिलाओं को धुआं मुक्त जीवन जीने में मदद करने के लिए अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को रेखांकित किया.

परेड ग्राउंड में भारी भीड़ जुटने से खुश मोदी ने कहा कि उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इसी जगह पर लोगों को संबोधित किया था, जिसमें वह प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे, लेकिन इस बार भीड़ और भी ज्यादा है.

उन्होंने दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच कहा, ‘पिछली बार जब मैं यहां आया था तब आधा मैदान ही भरा था. लेकिन देखिए, आपने मुझे कितना बड़ा जनादेश दिया. आपने बड़े-बड़े सूरमाओं को धूल चटाते हुए हमारी पार्टी के सभी उम्मीदवारों को जीत दिलायी. इस बार भीड़ कहीं ज्यादा है. आप क्या करने जा रहे हैं?’

इससे पहले परियोजना से जुड़ी एक शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री दिखायी गई, जिस दौरान प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री हरीश रावत और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी एवं धमेंद्र प्रधान, पूर्व मुख्यमंत्री भुवनचंद्र खंडूरी, भगत सिंह कोश्यारी एवं रमेश पोखरियाल निशंक के अलावा प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष अजय भट्ट एवं टिहरी की सांसद मालाराज्य लक्ष्मी शाह सहित पार्टी के कई नेता मौजूद थे.