पीएम की यात्रा पर हरीश रावत का तंज, विकास कार्यों को रोकना चाहते हैं मोदी

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राज्य के प्रसिद्ध हिमालयी धार्मिक स्थलों को जाने वाली सड़कों के पहले से ही हर मौसम के अनुकूल होने का दावा किया. उन्होंने, चारधाम के लिए हर मौसम के अनुकूल सड़कों के नेटवर्क की आधारशिला रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित देहरादून दौरे को चुनाव को ध्यान में रखते हुए एक कार्यक्रम बताया.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमारी सड़कें पहले से ही हर मौमस के अनुकूल हैं, विशेष तौर पर चारधाम जाने वाली सड़कें.’ उन्होंने कहा, ‘कुछ लोग अपने अति उत्साह के चलते प्रधानमंत्री की यात्रा को ऐसे प्रचारित कर रहे हैं कि वह उस दौरान राज्य को कुछ बिल्कुल नई चीज की सौगात देंगे जबकि वैसा नहीं है.’ उन्होंने कहा,
पीएम मोदी विकास के कार्यों को रोकना चाहते हैं.

हरीश रावत ने कहा, ‘वर्तमान परिस्थितियों में उनके दौरे का उद्देश्य चुनावी लगता है.’ सीएम ने कहा कि चारधाम के लिए सभी मौसमों के अनुकूल सड़कें केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय के साथ मामले को लगातार उठाने का परिणाम है जिसके परामर्श से उनकी मरम्मत और पुनर्निर्माण का एक व्यापक कार्यक्रम बनाया गया.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरे का विज्ञापन एक ऐसे कार्यक्रम के तौर पर करने का उद्देश्य इस दिशा में राज्य सरकार के प्रयासों को कमतर करना है, जिस दौरान वह राज्य में सभी मौसमों के अनुकूल सड़कों के नेटवर्क की आधारशिला रखेंगे.

उन्होंने कहा, ‘जब हम भूस्खलन के खतरे वाले जिलों में सड़कों की मरम्मत और पुनर्निर्माण के लिए जूझ रहे थे, केंद्रीय मंत्रियों की उत्तराखंड का दौरा करने में रुचि नहीं थी, लेकिन तब चुनाव नजदीक हैं उन्होंने राज्य में उतरना शुरू कर दिया है.’

हरदा ने कहा, उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरे का उद्देश्य विशुद्ध रूप से ‘चुनावी’ दिखता है. उन्होंने कहा कि यदि प्रधानमंत्री आपदा प्रभावित राज्य के बारे में कुछ करने में वास्तव में इच्छुक हैं, तो उन्होंने करीब 8000 करोड़ रुपये जारी करने के लिए कुछ क्यों नहीं किया, जिसकी सिफारिश उत्तराखंड पर कैबिनेट कमेटी ने बाढ़ नियंत्रण उपायों और केदारनाथ में 2013 के बाढ़ के मद्देनजर सुविधाएं बढ़ाने के लिए की थी.