सरकारी संपत्ति पर चुनाव प्रचार पड़ सकता है महंगा, जुर्माने के साथ होगी कड़ी कारवाई – डीएम रावत

जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सरकारी एवं लोक सम्पत्तियों पर विज्ञापन चस्पा करने, राजनैतिक पाटियों अथवा संगठन के दीवारों पर नारे लिखने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध लोक सम्पत्ति विरूपण निवारण अधिनियम के तहत कडी कार्यवाही की जायेगी.

साथ ही जो राजनैतिक दल अथवा व्यक्ति स्वयं अपने होल्डिंग, विज्ञापन नहीं हटायेगें उन्हें प्रशासन द्वारा हटाया जायेगा तथा सम्बन्धितों से जुर्माना वसूला जायेगा.

श्री रावत ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने- अपने क्षेत्र में सुनिश्चित कर लें कि लोक सम्पत्ति विरूपण निवारण अधिनियम को दृष्टिगत रखते हुए यह सुनिश्चित कर लें कि किसी भी व्यक्ति, राजनैतिक दल अथवा संगठन द्वारा इसका उल्लंघन तो नहीं किया जा रहा है. यदि लोक सम्पत्ति विरूपण निवारण अधिनियम का उल्लघंन कोई प्रकरण संज्ञान में आता है तो तद्नुसार उक्त अधिनियम के अन्तर्गत नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करें.

उन्होनें कहा कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 के कार्यक्रम की घोषणा के पश्चात इस प्रकार के पोस्टर, पैम्पलेट, वाल पेंटिंग आदि हटाये जाने की कार्यवाही की जानी है, इसलिए सभी आरओ/नोडल अधिकारी प्रारम्भ से ही इस प्रकार की कार्यवाही पर नियमानुसार अंकुश लगाना सुनिश्चित करें.