क्रिसमस के मौके पर प्रकृति ने किया श्रृंगार, बद्रीनाथ-केदारनाथ में बर्फबारी

उत्तराखंड में क्रिसमस के मौके पर प्रकृति ने भी अपना श्रृंगार किया है. मौसम विभाग का अनुमान सही साबित हुआ. बद्रीनाथ और केदारनाथ में रविवार को बर्फबारी हुई. केदारनाथ में तापमान शून्य से नौ डिग्री नीचे चला गया. वहीं, हेमकुंड साहिब, हनुमानचट्टी में भी बर्फ गिरी. उत्तराखंड के अन्य जिलों में बादल छाए हुए हैं. अगले 24 घंटों में कुछ स्थानों पर बहुत हल्की से हल्की वर्षा की संभावना है. अक्टूबर के बाद बने इस सिस्टम के कुमाऊं क्षेत्र में अधिक सक्रिय होने के आसार हैं.

राज्य में अक्टूबर से इंद्रदेव रूठे-रूठे से थे. बारिश-बर्फबारी के अभाव में सूखी ठंड तो पड़ ही रही थी, लेकिन यह खेती-बागवानी के लिए संकट का सबब बन गई थी. किसानों के चेहरे मुरझाए हुए हैं. अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अक्टूबर से अब तक बारिश औसत से करीब 90 प्रतिशत कम रही है. लंबे इंतजार के बाद आसमान में उमड़ रहे मेघों से अब बारिश की उम्मीद जगी.

मौसम विज्ञान केंद्र, देहरादून के निदेशक विक्रम सिह के अनुसार उत्तराखंड से गुजर हरे पश्चिमी विक्षोभ के साथ ही पंजाब के आसपास बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के चलते मौसम में बदलाव आया है. उन्होंने बताया कि मैदानी इलाकों में बूंदाबांदी से लेकर 2 से चार मिमी और पर्वतीय इलाकों में 8-10 मिमी बारिश के आसार हैं. कुमाऊं मंडल में इस सिस्टम का असर अधिक रह सकता है. इससे खेती और बागवानी को कुछ संबल मिल सकता है.