पीएम मोदी ने 3600 करोड़ रु की लागत से बनने वाले शिवाजी स्मारक का शिलान्यास किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के भव्य स्मारक की नींव रख दी है. पीएम मोदी ने होवरक्राफ्ट पर सवार होकर शिवाजी स्मारक के निर्माण का शुभारंभ किया. इससे पहले मोदी ने पड़ोस के रायगढ़ जिले में एमआईडीसी पटलगंगा में राष्ट्रीय सुरक्षा प्रबंधन संस्थान के नवनिर्मित परिसर का भी उद्घाटन किया. पीएम ने मुंबई तट के करीब अरब सागर में छत्रपति शिवाजी महाराज के विशाल स्मारक की नींव रखी.

इस दौरान मंच पर पीएम मोदी के साथ शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी मौजूद रहे. नितिन गडकरी और सुरेश प्रभु भी मंच पर मौजूद थे.

शिवाजी का ये स्मारक मुंबई अरब सागर में तट से डेढ़ किलोमीटर अंदर बनेगा. स्मारक की भव्यता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इसमें शिवाजी की मूर्ति स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से भी काफी ऊंची होगी. घोड़े समेत शिवाजी की मूर्ति की ऊंचाई 192 मीटर यानी करीब 630 फीट होगी. ये स्मारक 32 एकड़ के चट्टान पर तैयार होगा. जहां 10 हजार लोग एक साथ स्मारक का दर्शन कर पाएंगे. शिवाजी की मूर्ति को डिजाइन करने की जिम्मेदारी मशहूर शिल्पकार और पद्भभूषण से सम्मानित कलाकार राम सुतार को सौंपा गया है.

प्रधानमंत्री का एक दिन का ये महाराष्ट्र दौरा राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि बृहन्मुंबई महानगर पालिका का घमासान मुकाबला कुछ महीने बाद होने वाला है. शिवाजी स्मारक की मुख्य विशेषताओं में मराठा शासक की 192 मीटर लंबी प्रतिमा होगी. राजभवन किनारे से 1.5 किलोमीटर दूर यह चट्टानों पर बनाई जाएगी. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हाल में कहा कि शिव स्मारक देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में सबसे लंबा स्मारक होगा.