आज और कल बैंकों की छुट्टी, एटीएम का ही रहेगा सहारा

बैंकों में अगले दो दिन अवकाश होने के कारण लोगों को कैश के लिए एटीएम का ही सहारा रहेगा. गनीमत है कि प्रमुख बैंक पीएनबी व एसबीआइ के साथ ही कुछ अन्य बैंक के एटीएम भी चालू हो गए हैं. वहीं नोटबंदी के बाद से नकदी के लिए बैंकों व एटीएम में लग रही भीड़ धीरे-धीरे छंटने लगी है. करेंसी का विनिमय बढ़ने से भी बैंकों को सहूलियत हुई है. पिछले दो-तीन दिनों में आरबीआइ से करेंसी पहुंचने के कारण भी बैंकों में नकदी का संकट कम हुआ.

हालांकि, छोटे बैंकों के एटीएम अभी भी खाली पड़े हैं. पंजाब नेशनल बैंक, भारतीय स्टेट बैंक सहित केनरा, बैंक, यूनियन बैंक, ओबीसी सहित कुछ निजी बैंकों में आरबीआइ से नई करेंसी पहुंची. शुक्रवार को बैंकों में अन्य दिनों के मुकाबले भीड़भाड़ कम देखने को मिली. वहीं, छोटी निकासी के लिए एटीएम के आगे लोगों की लाइन तो लगी रही, लेकिन अब यह लाइनें काफी छोटी होने लगी हैं. शहर में पीएनबी व एसबीआइ के 90 फीसद एटीएम चालू हो गए हैं. यह जरूर है कि बाहरी क्षेत्रों में स्थित एटीएम में कैश फीड नहीं किया जा सका है. शनिवार व रविवार को छुट्टी होने के कारण बैंकों ने अधिक से अधिक एटीएम में कैश फीड किया, ताकि लोगों को दिक्कतें न आए.

आरबीआइ से नई करेंसी के रूप में 500 व दो हजार रुपये के नए नोट बैंकों को मिले हैं. बैंक जहां दो हजार के नोट को शाखाओं के माध्यम से बांटने पर फोकस कर रहा है. वहीं एटीएम में 500 के नोट डालने पर जोर है. मंडल प्रमुख पीएनबी अनिल खोसला के मुताबिक आरबीआइ से जो करेंसी आई थी उसमें से 12 करोड़ रुपये एटीएम में फीड कर दिए गए हैं. इनमें 500 के नए नोट ज्यादा हैं. इसका मकसद है कि लोगों को ज्यादा से ज्यादा छोटे नोट मिल सकें. एटीएम से ढाई हजार तक की निकासी की सुविधा है और बैंकों में भी नकदी जमा करने का चलन शुरू हो गया है. ऐसे में धीरे-धीरे हालात सामान्य होते नजर आ रहे हैं.

दो दिन पहले एसबीआइ की करेंसी चेस्ट के लिए 100 करोड़ रुपये आरबीआइ से आए. इन्हें प्रदेशभर की 16 चेस्टों में बांटा गया है. एसबीआइ अंचल कार्यालय के उप प्रबंधक हरिओम रेखी के मुताबिक आरबीआइ ने 10 करेंसी चेस्ट के लिए नकदी भेजी थी. हमने सभी 16 चेस्टों में 100 करोड़ रुपये को बराबर बांट दिया है ताकि कहीं कोई परेशानी न हो. शाखाओं में अधिकतम निकासी की सुविधा दी जा रही हैं. दो दिन की छुट्टी को देखते हुए बैंक के 90 फीसद एटीएम में कैश फीड कर दिया गया है.

नोटबंदी को हुए 45 दिन का समय बीत चुका है. इस दौरान जहां बैंकों में कैश की किल्लत रही, वहीं एटीएम में भी ठप रहे. इस दौरान स्टेट बैंक ऑफ पटियाला के एटीएम लगातार चालू रहे. गांधी रोड स्थित बैंक के एटीएम से नोट बंदी के एक-दो दिन बाद ही कैश मिलने लगा था. कारण बैंक ने एटीएम में 100-100 के नोट फीड कर दिए थे. बैंक की गांधी रोड शाखा के वरिष्ठ प्रबंधक राहुल कुमार ने बताया कि शहर में बैंक के दो एटीएम है. गांधी रोड शाखा में बैंक स्वयं कैश फीड करता है. वहीं जीएमएस रोड शाखा पर आउटसोर्स एजेंसी के माध्यम से कैश डाला जाता है. नोटबंदी के दौरान मुश्किल से चार-पांच दिन ही बैंक के एटीएम खाली रहे. इससे लोगों को सहूलियत मिल रही है. बैंक की शाखाओं में भी बचत व चालू खाते पर अधिकतम निकासी की सुविधा दी जा रही है.