लीबिया से हाइजैक विमान में सवार सभी यात्रियों-क्रू सदस्यों को माल्‍टा में छोड़ा गया

वेलेटा।… लीबिया से हाईजैक कर माल्‍टा ले जाए गए अफ्रीकियाह एयरवेज के विमान में सवार सभी 111 यात्रियों को छोड़ दिया गया है. अभी सात अन्‍य क्रू सदस्‍यों को भी छोड़ा जा रहा है. रिपोर्ट्स में यह जानकारी दी गई है.

यात्रियों की रिहाई विमान में सवार दो अपहरणकर्ताओं से बातचीत के बाद सुनिश्चित हो पाई, जिन्‍होंने पहले विमान को उड़ाने की धमकी दी थी.

इससे पहले माल्टा के प्रधानमंत्री जोसेफ मस्कट और सरकारी सूत्रों ने जानकारी दी कि हाईजैक विमान को भूमध्य सागर के द्वीप माल्टा में शुक्रवार को उतारा गया. विमान में 118 लोग (चालक दल के सात सदस्यों समेत) सवार थे.

अफ्रीकियाह एयरवेज द्वारा परिचालित यह एयरबस ए-320 साबहा से राजधानी त्रिपोली की घरेलू उड़ान पर थी, लेकिन उसका मार्ग बदल दिया गया.

जोसेफ मस्कट ने पहले ट्वीट किया, ‘सबहा से त्रिपोली की अफ्रीकियाह की उड़ान का मार्ग परिवर्तित कर दिया गया और विमान माल्टा में उतरा है. सुरक्षा सेवाएं अभियान का समन्वय कर रही हैं’. लीबिया ने इसकी पुष्टि की कि विमान का मार्ग परिवर्तित कर दिया गया है.

इससे पहले माल्टा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (एमएआई) ने ट्वीट किया, ‘एमआईए इसकी पुष्टि करता है कि हवाई अड्डे पर गैरकानूनी गतिविधि हुई है. आपात टीमें रवाना कर दी गई हैं’. हवाई पट्टी पर विमान को सैन्य वाहनों द्वारा घेराबंदी किए हुए देखा जा सकता है और सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है.

माल्टा सरकार के सूत्रों ने बताया कि विमान में एक अकेला अपहरणकर्ता है और उसने चालक दल के सदस्यों को बताया है कि उसके पास एक ग्रेनेड है. अपहरणकर्ता ने कहा कि वह अपनी मांगे माने जाने के बाद यात्रियों को रिहा कर देगा.

मुअम्मर गद्दाफी को 2011 में सत्ता से हटाए जाने के बाद लीबिया में अराजकता की स्थिति है, क्योंकि मिलीशिया देश के अलग-अलग क्षेत्रों पर नियंत्रण के लिए संघषर्रत हैं.