घर से भागे थे अलग दुनिया बसाने, नोटबंदी का लगा ग्रहण, पुलिस और घरवालों के हत्थे चढ़ा प्रेमी जोड़ा

उदयपुर राजस्थान से अपनी अलग दुनिया बसाने निकला एक शादीशुदा प्रेमी जोड़ा पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले के चलते परिजनों और पुलिस के हत्थे चढ़ गया. परिजनों के अचानक होटल में पहुंचने पर हंगामा खड़ा हो गया. प्रेमिका को खुद से अलग होता देख प्रेमी ने ब्लेड से हाथ की नस काट ली. पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है.

कोटद्वार तड़ियाल चौक निवासी एक युवक कई साल से उदयपुर राजस्थान में कार चलाता है. पत्नी और दो बच्चों के साथ युवक उदयपुर में ही रहता रहा. 25 नवंबर को उदयपुर में ही शादी की बुकिंग के दौरान दूल्हे की बहन से उसकी आंखें चार हो गई.

दोनों के बीच मोबाइल पर बातचीत होने लगी. दोनों ने अपने-अपने परिवार छोड़कर अलग दुनिया बसाने का फैसला कर लिया. इसके बाद दोनों 14 दिसंबर की रात करीब दो बजे हरिद्वार आ पहुंचे. प्रेमिका अपने छह साल के बेटे को भी साथ ले आई. तब से दोनों हरिद्वार में होटल अंबर पैलेस में बतौर पति-पत्नी ठहरे हुए थे. नोटबंदी के चलते चंद दिनों में उनके पास जमा नए नोट खर्च हो गए.

ऐसे में होटल में ठहरने और खाने-पीने में दिक्कत हुई तो प्रेमिका ने अपने छोटे भाई को मदद के लिए हरिद्वार बुलाया. भाई नोट लेकर तो पहुंच गया, लेकिन साथ में परिवार को भी ले आया. अचानक होटल में प्रेमिका के परिजन पहुंचने पर हंगामा खड़ा हो गया.

प्रेमिका घरवालों के सामने भी प्रेमी के साथ रहने की जिद करने लगी. परिजनों के विरोध को देखते हुए प्रेमी ने ब्लेड से अपनी हाथ की नस काटकर जान देने की कोशिश की.

हंगामे की सूचना होटल मैनेजर ने पुलिस को दे दी. शाम तक प्रेमी जोड़े और उनके परिजनों से पूछताछ की जा रही थी. कोतवाली प्रभारी अनिल जोशी ने बताया कि दोनों लोग शादीशुदा हैं. उदयपुर के हिरणमगरी सेक्टर छह थाने में विवाहिता की गुमशुदगी भी दर्ज है. उन्होंने बताया कि परिजनों से बातचीत की जा रही है, राजस्थान पुलिस को भी सूचना दे दी गई है.

मामले में प्रेमी युगल की लोकेशन तब पता चली, जब महिला ने नोट खर्च हो जाने पर अपने भाई से रुपये लेकर आने के लिए मदद मांगी थी. साथ ही उसने कसम भी दी थी कि घरवालों को कुछ न बताए. उसके भाई ने सबसे पहले अपने जीजा और फिर घरवालों को पूरी कहानी बताई. परिजनों को साथ लेकर पहुंचने पर महिला ने अपने भाई से भी नाराजगी जताई.