सारे पुराने नोट बैंक में एक साथ जमा कराएं, रोज आने वाले संदेह के घेरे में : जेटली

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली कहा है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास पर्याप्त कैश है. यह पर्याप्त नकदी सिर्फ 30 दिसंबर तक के लिए नहीं है, बल्कि इस तारीख के बाद भी इस बाबत कोई कमी नहीं होगी.

जेटली ने विमुद्रीकरण से जुड़े मसलों पर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तस्वीर साफ की और कुछ महत्वपूर्ण ऐलान किए. उन्होंने कहा कि एक ही बार में 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट जमा करवाएं. कोई व्यक्ति प्रतिदिन नोट जमा करवाने जाता है तो शक पैदा होता है.

ये हैं अरुण जेटली द्वारा सामने रखी गईं छूटों व पेशकश पर एक नज़र…

  • 2 करोड़ तक के टर्नओवर वाले कारोबारी अगर डिजिटल ट्रांजेक्शन करेंगे तो उनकी अनुमानित आय 8 प्रतिशत के बजाय 6 फीसदी मानी जाएगी और उन्हें इसी पर टैक्स देना होगा.
  • 2 करोड़ रुपये तक के टर्नओवर वाले छोटे व्यापारियों के लिए डिजिटल पेमेंट लेने पर 2 फीसदी की टैक्स छूट का ऐलान किया.
  • बैंकों में हो रही गड़बड़ों पर बोले, तमाम सरकारी एजेंसियों के अलावा बैंकों ने अपने स्तर पर भी जांच करवाकर कार्रवाई की है.
  • एक्सिस बैंक के कर्मियों के खिलाफ एक्शन लिया गया है. उन्होंने जोर दिया कि आरबीआई के पास पर्याप्त नकदी.
    चलन में मौजूद मुद्रा के बारे में जेटली ने कहा कि इसका आंकड़ा 30 दिसंबर को उचित गणना के बाद दिया जाएगा.