हैदराबाद विस्फोट : भटकल सहित आईएम के 5 आतंकियों को फांसी की सजा

साल 2013 के हैदराबाद बम विस्फोट मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक विशेष अदालत ने पांच दोषियों को फांसी की सजा सुनाई. इनमें प्रतिबंधित इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) का सह-संस्थापक यासीन भटकल और एक पाकिस्तानी नागरिक भी शामिल है.

अदालत ने जिन दोषियों को फांसी की सुनाई है उनमें यासीन भटकल उर्फ सिद्दीबप्पा जरार, पाकिस्तानी नागरिक जिया उर रहमान उर्फ वकास और तीन अन्य असदुल्ला अख्तर उर्फ हद्दी, तहसीन अख्तर उर्फ मोनू और ऐजाज सईद शेख उर्फ ऐजाज शेख शामिल हैं.

अदालत ने आरोपियों को गत 13 दिसम्बर को राष्ट्र के खिलाफ युद्ध छेड़ने, आपराधिक साजिश रचने और हत्या करने समेत कई अपराधों के लिए दोषी माना था. शहर के दिलसुखनगर इलाके में 21 फरवरी, 2013 को हुए दोहरे विस्फोट में एक गर्भस्थ बच्चे सहित 18 लोगों की मौत हो गई थी और 131 अन्य घायल हुए थे.

अभियोजन पक्ष के वकील ने संवाददाताओं से कहा कोर्ट ने माना कि यह मामला दुर्लभ से दुर्लभतम श्रेणी का है और सभी दोषी मृत्युदंड के लायक हैं. अभियोजक के अनुसार, अपराधियों ने कहा कि वे एनआईए अदालत के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे. उन्होंने सजा की एक प्रति पाने की इच्छा जाहिर की.

चेरलापल्ली जेल में सुबह से ही सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी, जहां विशेष अदालत ने सजा सुनाई.