नाबाद 1009 रन बनाने वाले युवा क्रिकेटर धनावडे की पिटाई, जावड़ेकर ने की निंदा

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रणव धनावडे को ‘भारत का गौरव’ बताते हुए रविवार को कहा कि अगर युवा क्रिकेटर की पिटाई की कथित घटना सच है तो यह ‘बुरा’ है और वह मुद्दे को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से बात करेंगे.

उन्होंने साथ ही कहा कि खेल के मैदानों का इस्तेमाल हेलीकॉप्टरों को उतारने के लिए नहीं किया जाना चाहिए. घटना को लेकर विवाद शुरू होने के साथ जावड़ेकर ने साफ किया, हालांकि किसी मंत्री का हेलीकॉप्टर उतारने के लिए जगह तय करना प्रशासन का विशेषाधिकार है, लेकिन अधिकारियों को ध्यान रखना चाहिए कि खेल के मैदानों और मैदानों का हेलीपेड के तौर पर इस्तेमाल न किया जाए.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘अगर प्रणव जैसे किसी युवा को पीटा जाता है जोकि देश का गौरव है तो यह बुरा है. लेकिन मुझे नहीं पता कि पुलिस ने उसे पीटा या नहीं. अगर ऐसा है तो यह निश्चित तौर पर बुरा है और मैं मुद्दे को लेकर (महाराष्ट्र के) मुख्यमंत्री से बात करूंगा.’ धनावडे एक स्कूल मैच में रिकॉर्ड तोड़ नाबाद 1009 रन बनाकर चर्चाओं में आया था.

घटना शनिवार को हुई, जब पुलिस ने धनावाडे और उसके दोस्तों को पास के ठाणे जिले के कल्याण के सुभाष मैदान खाली करने को कहा, जहां जावड़ेकर का हेलीकॉप्टर उतारा जाने वाला था. क्रिकेटर ने जब इसपर आपत्ति जतायी तो पुलिस ने कथित रूप से उसे पीटा.

जावड़ेकर ने कहा कि हेलीकॉप्टर उतारने की जगह का चयन प्रशासन करता है और उन्हें इसकी जानकारी नहीं होती.