बीजेपी ने हरीश रावत सरकार पर लगाया 1000 करोड़ के जमीन घोटाले का आरोप

ऊधमसिंह नगर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए हुए भूमि अधिग्रहण में उत्तराखंड सरकार पर 1000 करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने इस प्रकरण में सीबीआई जांच की मांग की और कहा कि मुख्यमंत्री हरीश रावत को नैतिकता के आधार पर तत्काल पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

यहां जारी एक बयान में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने राष्ट्रीय राज मार्ग 74 के लिए जसपुर से सितारगंज तक भूमि अधिग्रहण में हुए कथित घोटाले को हरीश रावत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार का एक और काला कारनामा बताया और कहा कि सरकार में बैठे लोगों के संरक्षण में किसानों के हक पर डाका डालकर इसमें 1000 करोड़ रुपये का घोटाला किया गया.

अजय भटट ने आरोप लगाया कि सरकार के संरक्षण में कांग्रेस के लोगों ने पहले किसानों से सस्ते में जमीन खरीद ली और फिर उसका भू-उपयोग बदलवाकर उसके ऐवज में सरकार से मोटा मुआवजा वसूल किया गया.

उन्होंने कहा कि इस तरह किसानों के साथ बड़ा धोखा करने के साथ ही सरकार को भी राजस्व की भारी हानि पहुंचाई गई. उन्होंने कहा, यह केवल आर्थिक घोटाला ही नहीं अपितु आपराधिक कृत्य भी है जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता. बीजेपी अध्यक्ष ने इस प्रकरण की सीबीआई जांच की मांग करते हुए कहा कि मामले के दोषियों को दंडित किया जाना चाहिए.

कांग्रेस सरकार को पूरी तरह जन विरोधी बताते हुए भटट ने मुख्यमंत्री रावत से तत्काल इस्तीफा देने की मांग की. उन्होंने कहा कि इसे अब सरकार में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है और जब तक वह सरकार में रहेगी, प्रदेश लुटता रहेगा और आर्थिक रूप से और अधिक कंगाल होता जाएगा.