मुक्केबाजी : विजेंदर सिंह अब भी अजेय, चेका को चित कर बचाया खिताब

भारतीय पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने पेशेवर मुक्कबाजी में अपराजित रहने का रिकॉर्ड कायम रखते हुए विश्व मुक्केबाजी संगठन (डब्ल्यूबीओ) एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट का खिताब कायम रखा है. उन्होंने शनिवार को खचाखच भरे त्यागराज स्टेडियम में खुद से कहीं अनुभवी मुक्केबाज तंजानिया के फ्रांसिस चेका को तीसरे राउंड में ही तकनीकी आधार पर नॉकआउट कर लगातार आठवीं जीत दर्ज की.

विजेंदर ने इसी साल जुलाई में ऑस्ट्रेलिया के कैरी होप को इसी स्टेडियम में मात देते हुए यह खिताब हासिल किया था. 2015 में पेशेवर मुक्केबाजी में कदम रखने वाले विजेंदर ने इस मुकाबले को मिलाकर कुल आठ मुकाबले खेले हैं और सभी में जीत हासिल की है.

इस खिताब को बचाने के लिए उनका सामना अनुभवी मुक्केबाज चेका से था. चेका इस मुकाबले में 43 मुकाबलों का अनुभव लेकर विजेंदर के सामने उतरे थे, लेकिन विजेंदर ने अपने शानदार खेल से उन्हें एकतरफा मुकाबले में मात दी.

दोनों खिलाड़ियों ने मुकाबले की शुरुआत संयम के साथ की और विपक्षी के गलत मूव का इंतजार किया. लेकिन पहले राउंड के बाद विजेंदर ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया और दूसरे राउंड में अपने विपक्षी पर हावी रहे. चेका उनके पंचों का बचाव भी नहीं कर पा रहे थे.

तीसरे राउंड में विजेंदर समझ गए थे कि उन्हें कैसे चेका को मात देनी है और तकनीकी रूप से दक्ष विजेंदर ने इस राउंड की शुरुआत में ही अपने सटीक पंचों से चेका को बैकफुट पर धकेल दिया और नॉकआउट कर खिताब अपने पास ही रखा.

अन्य मुकाबलों में भारत के राजेश कुमार ने 61 किलोग्राम भारवर्ग में युगांडा के मुबाराका सेगुया को 2-1 से मात दी. दीपक तंवर ने पेशेवर मुक्केबाजी में अपने अपराजित रिकॉर्ड कायम रखते हुए लगातार चौथी जीत दर्ज की. उन्होंने 67 किलोग्राम भारवर्ग में इंडोनेशिया के सुत्रियोनो को तकनीकी आधार पर नॉकआउट कर मुकाबला जीता.

धर्मेद्र ग्रेवाल ने 91 किलोग्राम भारवर्ग में युगांडा के अबासी क्योबे को 3-0 से मात दी. भारत के कुलदीप धांडा ने भी अपना जीत का सिलसिला कायम रखा और 61 किलोग्राम भारवर्ग में इंडोनेशिया के इया रोजटोन को 3-0 से मात दी.

हालांकि भारत के परदीप खारकेरा को 67 किलोग्राम भारवर्ग में हार का सामना करना पड़ा. उन्हें ऑस्ट्रेलिया के स्कॉट एडवर्डस ने 3-0 से मात दी.