राहुल गांधी से पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, “हमेशा इसी तरह मिलते रहा करें…”

नोटबंदी को लेकर संसद में लगातार जारी हंगामे के बीच गुरुवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पहुंचे शिष्टमंडल से हुई मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कथित रूप से कहा, “हमें हमेशा इसी तरह मिलते रहना चाहिए…”.

पीएम से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में हमारी यात्रा के दौरान किसानों ने मांग रखी थी कि उनका कर्ज माफ किया जाना चाहिए, बिजली बिल हाफ किया जाए और फसल का सही दाम मिलना चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माना है कि किसानों की हालत गंभीर है, लेकिन कर्ज माफ करने पर उन्होंने कुछ नहीं कहा सिर्फ सुना.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने किसानों के मुद्दे को लेकर कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल में शामिल अमरिंदर सिंह ने मुलाकात के बाद बताया कि ‘हमने किसानों से जुड़ी समस्याओं जैसे कर्ज, आत्महत्या, न्यूनतम समर्थन मूल्य की बात पीएम के सामने रखी. प्रधानमंत्री ने हमें इस मामले पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है.’

बैठक से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले से पूरा देश तबाह होने की कगार पर है. तमाम राज्यों के किसान अपनी मांगों के साथ दिल्ली आए हुए हैं. राहुल गांधी उनकी आवाज उठाने के लिए पीएम से मिल रहे हैं. आनंद शर्मा ने कहा कि पीएम ने कहा था तीन दिन में दिक्कत खत्म हो जाएगी. फिर उन्होंने 50 दिन की बात कही. अब भी लोगों की दिक्कतें खत्म होती नहीं दिख रही.

राहुल गांधी के साथ कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल भी इस मीटिंग में शामिल हुआ. इस मुलाकात में राहुल गांधी ने पीएम मोदी के सामने किसानों की समस्याओं का मुद्दा उठाया. दो दिन पहले ही राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा था कि मेरे पास पीएम मोदी के निजी भ्रष्टाचार की जानकारी है और संसद में अगर मुझे बोलने दिया गया तो मैं इसका खुलासा करुंगा. राहुल ने कहा था कि मोदी इससे घबरा गए हैं और इसलिए मुझे संसद में बोलने नहीं दिया जा रहा.

बताया जा रहा है कि राहुल गांधी पीएम मोदी से किसानों के कर्ज माफी को लेकर ज्ञापन सौंपेंगे. राहुल गांधी ने एक दिन पहले ही पीएम मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. इस आरोप के ठीक दो दिन के बाद दोनों नेता मिलेंगे. आपको बता दें कि अलग-अलग राज्यों से 2 करोड़ किसानों के दस्तखत लेने के बाद उत्तर प्रदेश, पंजाब की ओर से कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल संसद में पीएम मोदी से मुलाकात करेगा.

पीएम से मुलाकात करने के लिए राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, राज बब्बर, प्रमोद तिवारी और संजय सिंह समेत 16 कांग्रेसी सांसद और किसानों का एक बड़ा प्रतिनिधिमंडल भी पहुंचा.

पीएम से मुलाकात के दौरान किसानों की क़र्ज़ माफ़ी, बिजली बिल आधा और फसलों के समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग रखी गई. ऐसे बहुत कम मौके आए हैं जब संसद के बाहर ये दोनों नेता मिले हों. नोटबंदी के बाद से राहुल गांधी कह रहे हैं कि इस फैसले के चलते किसानों के भूखे मरने की नौबत आ गई है.