यहां बैंककर्मी कमीशन लेकर अमीरों की तिजोरिया भर रहे हैं, गरीब लाइन में लगे

पिछले महीने नोटबंदी की घोषणा के एक महीने बाद भी आम जनता बैंकों के बाहर घंटों कतार में खड़े होने को मजबूर है. उधर उधमसिंह नगर जिले के रुद्रपुर और आसपास के करीब दस बैंकों ने कमीशन लेकर धनाढ्य लोगों की तिजारियों को नए नोटों से भर दिया है.

यही कारण है कि करीब ढाई लाख की आबादी वाले शहर में डेढ़ लाख से अधिक लोग आज भी कैश के लिए परेशान हैं. खुफिया विभाग ने ऐसी 6 सरकारी और 4 प्राइवेट बैंक शाखाओं की सूची तैयार की है. बता दें कि यह मामला तब उजागर हुआ जब पिछले हफ्ते एक प्राइवेट बैंक में व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने हंगामा किया और पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा.

व्यापारियों ने यहां पर दस प्रतिशत का कमीशन लेकर नए नोट देने का आरोप लगाया था. उनके अनुसार शहर के कई धनाढ्य लोगों ने बैंकों के साथ कमीशन का खेल खेलकर अपनी तिजोरियां भर ली हैं. इसके बाद खुफिया विभाग ने पिछले 18 दिन में जो रिपोर्ट तैयार की है, उसमें चौंकाने वाले तथ्य हैं.

इसमें 6 सरकारी बैंकों के साथ-साथ 4 प्राइवेट बैंक शाखाएं शामिल हैं, जिन्होंने 10 प्रतिशत से लेकर 30 प्रतिशत का खेल खेला है. खुफिया विभाग के सूत्रों का कहना है कि जल्द ही उन बैंकों पर शिकंजा कसा जाएगा, जिन्होंने कमीशन लेकर हेराफेरी की है.

लीड बैंक अधिकारी मधुसूदन सुमन का कहना है कि बैंकों की चेस्ट ब्रांचों से कितनी नई करेंसी रुद्रपुर शहर में आई है, यह लीड बैंक के पास आंकड़ा नहीं होता है. कुछ बैंकों द्वारा कमीशन पर लेनदेन की बातें लोगों के मुंह से सुनी गई हैं, लेकिन इसमें कौन-कौन बैंक हैं, यह जानकारी उनके पास नहीं है। फिलहाल कई बैंकों में कैश की समस्या सुधरी है, कुछ में बरकरार है.