हरीश रावत कैबिनेट के इस दर्जा प्राप्त मंत्री का कटा टिकट, पार्टी ने दूसरे नेता को दिया टिकट

उत्तराखंड की हरीश रावत सरकार में कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त झबरेड़ा के विधायक हरिदास का टिकट बीएसपी ने काट दिया है. बीएसपी ने हरिदास को झबरेड़ा से प्रत्याशी नहीं बनाया है. बीएसपी ने झबरेड़ा से भागमल को प्रत्याशी घोषित कर दिया है. पार्टी के इस फैसले के बाद अब हरिदास दोराहे पर आ खड़े हुए हैं. उनके सामने कांग्रेस से टिकट मांगने या निर्दलीय चुनाव लड़ने का विकल्प बचा है.

हरिदास पहली बार बीएसपी के टिकट पर लंढौरा विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर विधायक चुने गए थे. 2012 के परिसीमन के बाद झबरेड़ा विधानसभा सीट अस्तित्व में आई तो हरिदास को बसपा ने यहां से प्रत्याशी बनाया और वह जीतकर विधानसभा पहुंचे.

बीएसपी के समर्थन से राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी तो हरिदास को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया. लेकिन इस बीच ऐसा समय भी आया कि जब हरिदास की बीएसपी से दूरियां बढ़ने लगीं. पार्टी की बैठकों में उनकी गैरहाजिरी संगठन को खलने लगी.

मामला बीएसपी सुप्रीमो मायावती तक पहुंचा तो उन्होंने हरिदास को पार्टी से निलंबित कर दिया. हरिदास तभी से निलंबित चल रहे हैं, लेकिन माना जा रहा था कि 2017 का विधानसभा चुनाव आते-आते सब ठीक हो जाएगा और हरिदास की फिर से बीएसपी में एंट्री हो जाएगी.

इसी उम्मीद में हरिदास ने अन्य कोई पार्टी भी ज्वाइन नहीं की, लेकिन बुधवार को रुड़की में पार्टी के एक कार्यक्रम में राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने झबरेडा विधानसभा सीट पर भागमल को बीएसपी का प्रत्याशी घोषित कर दिया. झबरेडा से भागमल के बीएसपी प्रत्याशी घोषित होने से विधायक हरिदास समर्थकों में मायूसी छा गई है. जबकि भागमल समर्थक खासे उत्साहित हैं.