राहुल गांधी का ट्विटर हैंडल हैक करने वालों का दावा, हमारे आंकड़ों से मचेगा हड़कंप

न्यूयॉर्क/नई दिल्ली।… कांग्रेस पार्टी, इसके उपाध्यक्ष राहुल गांधी, विवादित शराब कारोबारी विजय माल्या और अब टेलीविजन पत्रकार बरखा दत्त व रवीश कुमार का ट्विटर अकाउंट हैक करने वाला समूह ‘लेजन’ आखिरकार सामने आ गया है.

एक इनक्रिप्टेड इंस्टैंट-मैसेजिंग सॉफ्टवेयर के माध्यम से सोमवार को वॉशिंगटन पोस्ट को दिए एक इंटरव्यू में लेजन ने कहा कि समूह अपोलो हॉस्पिटल्स के सर्वर तक अपनी पहुंच बना चुका है और उन सर्वरों से मिले आंकड़ों को जारी करने के प्रति अभी कुछ सुनिश्चित नहीं किया गया है, क्योंकि इससे भारत में हड़कंप मच सकता है.

रिपोर्ट में लेजन क्रू के हवाले से कहा गया है, ‘कुछ सप्ताह पहले तक लेजन की राजनीतिक आंकड़ों में दिलचस्पी नहीं थी. समूह के पास कई टेराबाइट आंकड़े थे, जो सभी क्षेत्रों से संबंधित थे और इन आंकड़ों में से हैकरों ने भारत की लोकप्रिय हस्तियों के कम से कम जीगाबाइट आंकड़ों की पहचान की.’

वाशिंगटन पोस्ट में विदेशी मामलों के बारे में लिखने वाले मैक्स बिराक ने कहा, ‘जब मैंने उनसे पूछा कि उनके पास इतना सारा आंकड़ा कैसे पहुंचा, तो उन्होंने कहा कि उन्होंने भारत के 40,000 से अधिक सर्वरों को हैक किया.’

बिराक ने कहा, ‘उन्होंने कहा कि आंकड़े उनमें से अपने लक्ष्यों को चुन रहे थे, इसका कोई और तरीका नहीं था. उन्हें जो कुछ भी मिला है, उनका इरादा उसे जारी करने का है.’ लेजन ने चेतावनी दी है कि उनका अगला लक्ष्य आईपीएल के अध्यक्ष ललित मोदी हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘लेजन क्रू ने संकेत दिया है कि वह तथा उनका अनुसरण करने वाले हैकरों की नजर बड़े धमाकों पर थी.’

जब उन्होंने भारत के ट्विटर खातों को हैक किया, तो हैकर समूह ने यह दावा करते हुए लोगों के समर्थन की मांग की कि वे आने वाले वक्त में इस तरह के और धमाके करेंगे.

इससे पहले एक ट्वीट में कहा गया, ‘हमारा समर्थन करने वाले लोग हमारे समूह में शामिल हों!’

उन्होंने कहा, ‘लेजन का समर्थन कीजिए. हम इन आपराधियों को न्याय के कठघरे तक लाने के लिए जरूरी सूचनाओं को आप तक पहुंचाएंगे.’

लेजन ने कहा, ‘यह तो केवल शुरुआत है. अगले कुछ दिनों में और आंकड़े जारी होंगे. हम लेजन हैं.’