पढ़ें- नोटबंदी के बाद पकड़ा गया कितना कालाधन, नए नोट भी मिले

नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता से 50 दिन मांगे थे, जिसमें से 30 दिन तो बीत चुके हैं और अब बस 20 दिन शेष बचे हैं. एक तरफ लोग कैश की किल्लत से जूझ रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ इनकम टैक्स विभाग लगातार छापे मारकर कालेधन की कलई खोल रहा है. ताजा मामला कर्नाटक के चित्रदुर्ग और हुबली का है, जहां पर आईटी विभाग ने छापेमारी के दौरान करोड़ों रुपये कैश और सोना जब्त किया है.

यहां एक हवाला ऑपरेटर के यहां छापेमारी के दौरान 5 करोड़ 70 लाख रुपये 2000 के नोट और 90 लाख रुपये के पुराने नोट जब्त किए हैं. इसके साथ ही 32 किलो सोना इस हवाला ऑपरेटर के यहां से मिला है. नोटबंदी के बाद से भारी मात्रा में कैश और सोना आयकर विभाग ने छापेमारी के दौरान जब्त किया है.

नोटबंदी के बाद पकड़े गए चुनिंदा बड़े मामलों के बारे में यहां पढ़ें…

चेन्नई में मिले 90 करोड़
चेन्नई में मनी एक्सचेंज रैकेट का भंडाफोड़ किया. अलग-अलग जगहों पर छापेमारी के दौरान आयकर विभाग को 90 करोड़ रुपये की नकदी मिली. हैरानी की बात ये है कि 90 करोड़ में 70 करोड़ रुपये की रकम नए नोटों वाली है. छापेमारी के दौरान आयकर विभाग ने 100 किलो सोना भी जब्त किया है. इस सिलसिले में आरोपी व्यवसायी शेखर रेड्डी, श्रीनिवास रेड्डी व प्रेम को हिरासत में लिया गया.

गोवा में मिले 1.5 करोड़
उत्तरी गोवा में सात दिसंबर को एक स्कूटर पर जा रहे दो लोगों को पुलिस ने सूचना मिलने पर पकड़ा. उनके पास से 70 लाख रुपये की नई नकदी मिली और उस दिन इनको मिलाकर गोवा के विभिन्न क्षेत्र से कुल 1.5 करोड़ रुपये के नए नोट जब्त किए गए.

कोयंबटूर में मिले 1 करोड़
29 नवंबर को तमिलनाडु के कोयंबटूर में तीन लोगों को एक कार में एक करोड़ की नई नकदी के साथ पकडा़ गया. ये पुराने नोटों से नए नोटों की बदली के काम में लगे थे.

सूरत में मिले 76 लाख
9 दिसंबर को सूरत में होंडा कार के अंदर 76 लाख रुपये के 2000 के नए नोट मिले. महाराष्ट्र से गुजरात पहुंची यह कार नोटों से भरी मिली. सिर्फ कैश नहीं, बल्कि उसमें 2000 रुपये के नए नोट बरामद हुए. इस होंडा कार में चार यात्री सवार थे, जिनमें तीन पुरुष और एक महिला थी.

इसके अलावा गुजरात में दो अन्य बड़ी घटनाओं में 23 नवंबर को गुजरात सेटेलाइट एरिया में 10.6 लाख के नए नोट और 20 नवंबर को साबरकांठा जिले में आठ लाख की नई नकदी पकड़ी गई.

उडुपी में मिले 71 लाख
7 दिसंबर को कर्नाटक के उडुपी में एक कार से 71 लाख के नए नोट मिले. अधिकांश नोट 2000 रुपये की नई करेंसी में थे. इस सिलसिले में तीन लोगों को पकड़ा गया.

मुंबई में मिले 72 लाख
9 दिसंबर को मुंबई के दादर इलाके में 72 लाख मिले. दरअसल इस केस में सात लोगों को पकड़ा गया जोकि पुराने नोटों को नए से बदलने की कोशिश कर रहे थे. इनके पास 85 लाख रुपये मिले जिसमें से 72 लाख रुपये 2000 के नए नोटों में थे.

हैदराबाद में मिले 65 लाख
यहां के डाकघर के सीनियर अधीक्षक के पास से सीबीआइ को 65 लाख रुपये मिले. ये सभी नोट 2 हजार की नई करेंसी वाले थे.

होशंगाबाद में मिले 40 लाख
मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में एक सफेद इनोवा कार से 40 लाख रुपये के नए नोट एक काले बैग में मिले. कार पर प्रेजीडेंट-एंटी-करप्शन सोसायटी का स्टीकर लगा था.

गुड़गांव में मिले 27 लाख
गुड़गांव के इस्लामपुरा इलाके में तीन आदमियों से आठ दिसंबर को 2000 और 100 के नोटों में 17 लाख रुपये की नई नकदी पकड़ी गई. उसके 24 घंटे के भीतर ही 10 लाख की नई नकदी समेत दो लोगों को पकड़ा गया.

असम में 20 लाख के नए नोट के साथ तीन गिरफ्तार
असम में कमीशन के लिए पुराने नोटों को 2000 रुपये के नए नोटों सेबदलने में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस की ओर से शनिवार को यह जानकारी दी गई. उसका कहना है कि इन लोगों को शुक्रवार रात को गुवाहाटी के हाटीगांव क्षेत्र से एक घर से गिरफ्तार किया गया.

पुलिस ने बताया कि सूचना के आधार पर घर पर छापा मारा गया. घर में तीन लोग 2000 के नोट के 20 लाख रुपये के साथ इंतजार कर रहे थे. तीनों से इस बात को लेकर पूछताछ की जा रही है कि उन्हें इतनी बड़ी मात्रा में नए नोट कहां से मिले. पुलिस के मुताबिक इस रैकेट के पीछे कुछ बैंक अधिकारियों की भूमिका से इन्कार नहीं किया जा सकता है.