एक दिन पहले ही हो गई थी जयललिता की मौत?

बीते रविवार को जयललिता को दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था .जबकि सोमवार देर रात जयललिता ने आखिरी सांसें लीं, मगर पार्टी के नेताओं ने रविवार को ही जया के अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू कर दी थीं.

सरकार के सूत्रों ने ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ को बताया कि मंगलवार को जिस ताबूत में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को दफनाया गया था असल में AIADMK ने रविवार को ही उसका ऑर्डर दे दिया था. इतना ही नहीं उसके कुछ देर बाद ही राजाजी हॉल को साफ-सुथरा करने के आदेश दिए गए थे. चेन्नै के राजाजी हॉल में ही जयललिता को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था.

सूत्रों के मुताबिक रविवार शाम 7 बजे के आस-पास तमिलनाडु सरकार के चार मंत्री ओ पनीरसेल्वम, डी जयकुमार, पी बेंजामिन और के.पंड्याराजन को जया की गंभीर स्थिति की जानकारी दे दी गई थी. ये चार मंत्री ही उस वक्त अस्पताल में मौजूद थे. बाकी मंत्रियों को बाद में जानकारी दी गई. जया की करीबी शशिकला उस वक्त बात करने की हालत में नहीं थीं. एक वरिष्ठ मंत्री ने बताया, ‘जया की हालत बेहद नाजुक बनी हुई थी. जिस डिवाइस पर जया को रखा गया था, उससे वह कुछ देर तक ही जिंदा रह पाई थीं.’