नोटबंदी का कोई फायदा नहीं हुआ, सिर्फ परेशानी हुई : अमित मित्रा

पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को चलन से बाहर करने के केन्द्र सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए पश्चिम बंगाल के वित्तमंत्री अमित मित्रा ने गुरुवार को कहा कि भारत अपनी जीडीपी से 4.7 लाख करोड़ रुपये गंवा सकता है.

इंडिया टुडे समाचार चैनल पर करण थापर को दिए गए साक्षात्कार में मित्रा ने कहा, ‘हम अपनी जीडीपी से 4.7 लाख करोड़ रुपये गंवा सकते हैं.’ पांच सौ और एक हजार रुपये के पुराने नोट नौ नवंबर से चलन से बाहर हो गए. उसके बाद से ही बैंकों और एटीएम के बाहर नकदी निकालने के लिए लंबी-लंबी लाइनें लगी हुई हैं.

उन्होंने कहा, ‘कल्पना करें 400 करोड़ रुपये जाली नोटों, सरकारी आकंड़ों के अनुसार, के लिए आपने 14.4 लाख करोड़ या 15 लाख करोड़ रुपये को चलन से बाहर कर दिया.’

मित्रा ने पूछा, ‘यह कौन सी नीति है. अन्य गंभीर सवाल, हमने हाल ही में नए नोट में जाली मुद्रा देखी, खबरों के अनुसार, मुझे बताया गया है. इसका क्या मतलब है.’ उन्होंने कहा, नोटबंदी के सरकार के फैसले से कोई लाभ नहीं हुआ है, सिर्फ तकलीफ हुई है.