जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप : भारत ने मनदीप, हरमनप्रीत के शानदार खेल से कनाडा को 4-0 से हराया

खिताब की प्रबल दावेदारों में से एक मेजबान भारत ने आज यहां जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप में शानदार ढंग से अभियान शुरू करते हुए पूल डी मैच के शुरुआती मैच में कनाडा को 4-0 से शिकस्त दी. भारत ने बेहतरीन खेल दिखाया. उसके लिए मनदीप सिंह ने 35वें मिनट, हरमनप्रीत सिंह ने 46वें मिनट, वरुण कुमार ने 60वें मिनट और अजीत पांडे ने 66वें मिनट में गोल कर टीम को पूरे तीन अंक दिलाए.

घने कोहरे के कारण देर शाम में मैच के आयोजन पर अनिश्चितता बनी हुई थी, इसी के कारण अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने मैच 12 मैच मिनट पहले ही शुरू कर दिया. फार्म और उम्मीदों को देखते हुए भारतीय टीम कनाडा के खिलाफ प्रबल दावेदार मानी जा रही थी और मेजबानों ने उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन किया. हालांकि शुरू में टीम थोड़ी नर्वस दिखी.

लेकिन जैसे जैसे मैच आगे बढ़ा भारतीय जूनियर खिलाड़ियों ने एकजुट होकर खेल दिखाया और कनाडा के डिफेंस पर आक्रमण शुरू कर दिया. कनाडा की 18 सदस्यीय टीम में 13 भारतीय मूल के खिलाड़ी थे.

मेजबानों को पहला मौका चौथे मिनट में मिला लेकिन अरमान कुरैशी का रिवर्स हिट नेट में ही उलझ गया. भारत को 12वें मिनट में लगातार पेनल्टी कार्नर मिले, लेकिन दोनों ही मौकों पर हरमनप्रीत सिंह की कोशिश कनाडा के गोलकीपर इक्विंदर गिल ने नाकाम कर दी.

बीते समय में कई मौकों पर सीनियर टीम के लिये खेल चुके और चोट से वापसी कर रहे मनदीप सिंह गोल करने के करीब पहुंचे लेकिन कनाडाई गोलकीपर ने उनका रिवर्स शाट रोक दिया. भारत को सफलता पहले हाफ के अंतिम मिनट में मंदीप के जरिये मिली, जिन्होंने सही समय पर सही पाजीशन में हरमनप्रीत की मदद से गोल किया. दूसरे हाफ के बाद भारत ने दबाव बढ़ा दिया और उसने कुछ मौके गंवाये भी.

44वें मिनट में हरजीत सिंह का शाट सर्कल से वाइड चला गया. चौथे पेनल्टी कार्नर पर वरूण की फ्लिक का कनाडाई डिफेंस ने गलत तरीके से बचाव किया जिससे भारत को पेनल्टी स्ट्रोक मिला और हरमनप्रीत ने बढ़त दोगुनी कर दी.

वरुण ने भारत के लिये पांचवें पेनल्टी कार्नर पर गोल कर दागा. हूटर से चार मिनट पहले अजीत ने मनप्रीत जूनियर के पास पर स्कोर 4 . 0 कर दिया.

गुरुवार को ही इंग्लैंड ने पूल सी में दक्षिण अफ्रीका को 4-2 से शिकस्त दी. इंग्लैंड के लिये एडवर्ड होर्लर ने पांचवें और नौंवे मिनट में दो पेनल्टी कार्नर को गोल में तब्दील किया जबकि पीटर स्काट ने 11वें और जोनाथन ग्रिफिथ ने 62वें मिनट में गोल दागा.