दक्षिण कश्मीर में आतंकवादि मुठभेड़ के बाद 2 शव बरामद

दक्षिण कश्मीर के बिजबेहरा में बुधवार रात आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच शुरू हुई मुठभेड़ शुक्रवार सुबह खत्म हो गई. इस दौरान दो शव बरामद किए गए हैं. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों ने उस घर को विस्फोटकों से नष्ट कर दिया, जिसमें आतंकवाददी छिपे हुए थे. यहां गोलीबारी करीब 40 घंटे तक चली.

अधिकारी के मुताबिक, इस घर को आतंकवादी बंकर के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी रुक गई है. दो शवों को बरामद किया गया है.’ उन्होंने बताया कि तलाशी अभियान जारी है.

स्थानीय निवासियों का कहना है कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के हसनपुरा गांव में पांच अन्य घर भी क्षतिग्रस्त हुए हैं.

उन्होंने कहा कि सुरक्षाबलों ने मलबे को हटाने के लिए बुलडोजर का इस्तेमाल किया। मलबे के नीचे से शव और दो एके-47 राइफल बरामद किए गए हैं.

पुलिस ने गुरुवार को दावा किया था कि इस मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकवादी मारे गए हैं.

आतंकवादियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच शुक्रवार सुबह उस वक्त एक बार फिर गोलीबारी शुरू हो गई थी, जब सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान चलाया.

आतंकवादियों के मारे जाने के बाद गुरुवार शाम को स्थानीय लोगों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प हो गई, जो शुक्रवार को भी जारी रही.

मुठभेड़ स्थल से कुछ दूरी पर सुरक्षा बलों के साथ झड़प में गुरुवार को एक स्थानीय प्रदर्शनकारी युवक की भी मौत हो गई, जबकि एक अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गया.

अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए अनंतनाग और कुलगाम में सभी मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई है।

पहले ऐसी सूचना थी कि पुलिस ने छिपे हुए आतंकवादियों वाले जिस घर को निशाना बनाया है, उनमें राज्य का अतिवांछित लश्कर कमांडर अबु दुजाना भी शामिल था.

स्थानीय नागरिकों ने हालांकि कहा कि वह भाग गया है. लेकिन सुरक्षा अधिकारियों ने न तो इसकी पुष्टि की है और न ही इससे इनकार किया है कि बुधवार रात से एक घर में छिपे आतंकवादियों में दुजाना शामिल था या नहीं.