नोटबंदी के खिलाफ पश्चिम बंगाल में प्रस्ताव स्वीकार, नहीं मिला कांग्रेस-लेफ्ट का साथ

पश्चिम बंगाल विधानसभा में बुधवार को सत्तारूढ तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व में नोटबंदी के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया गया. हालांकि उसे कांग्रेस और वामदलों का समर्थन हासिल नहीं हुआ, जो राष्ट्रीय स्तर पर मोदी सरकार द्वारा किए गए फैसले का विरोध करते हुए उसके साथ हैं.

राज्य राजनीति में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के साथ टकराव ने कांग्रेस और वामदलों को इस प्रस्ताव का समर्थन करने से उन्हें रोक दिया. इस प्रस्ताव का ध्वनि मत से पारित किया गया.

कांग्रेस और वामदलों ने दावा किया कि वे इस प्रस्ताव का समर्थन नहीं कर सकते थे, क्योंकि तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नोटबंदी के फैसले की वापसी चाहती हैं, जबकि वे इसे लागू करने के तरीके के खिलाफ हैं.

तृणमूल सरकार ने सोमवार को नोटबंदी पर चर्चा के लिए प्रस्ताव पेश किया था जिसे संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी ने पेश किया था. यह चर्चा बुधवार को भी जारी रही. तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद मंगलवार को सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई थी.