IndvsEng मुंबई टेस्ट : पहले दिन के तीसरे सत्र में अश्विन ने कराई भारत की वापसी

भारतीय स्पिन गेंदबाज रविचन्द्रन अश्विन (75/4) ने अपनी शानदार गेंदबाजी की बदौलत मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले जा रहे चौथे टेस्ट के पहले दिन गुरुवार को इंग्लैंड को अच्छी शुरुआत के बाद बैकफुट पर धकेल दिया. दिन के पहले दो सत्र में दो विकेट गंवाने वाली मेहमान टीम ने आखिरी सत्र में तीन विकेट गंवाए.

दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने 94 ओवरों में पांच विकेट खोकर 288 रन बना लिए हैं. स्टम्प्स तक बेन स्टोक्स (नाबाद 25) और जोस बटलर (नाबाद 18) बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं.

इंग्लैंड ने पहले दो सत्र में एलिस्टर कुक (46) और जो रूट (21) के विकेट गंवाए थे. लेकिन अंतिम सत्र में अश्विन ने तीन विकेट लेकर उसे मजबूत स्थिति में जाने से रोक दिया.

अश्विन ने तीसरे सत्र में अपना पहला मैच खेल रहे केटान जेनिंग्स (112), मोइन अली (50) और जॉनी बेयर्सटो (14) के अहम विकेट लिए.

इस मैच में शतक लगाने वाल जेनिंग्स पहले मैच में शतक लगाने वाले इंग्लैंड के आठवें सलामी बल्लेबाज बन गए हैं. जेनिंग्स ने अपनी शतकीय पारी में 219 गेंदों का सामना करते हुए 13 चौके लगाए.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरे मेहमानों ने दिन के पहले सत्र में कप्तान के रूप में अपना इकलौता विकेट गंवाया. अपने अर्धशतक की ओर बढ़ रहे कुक रवींद्र जडेजा की गेंद पर चकमा खा गए और पार्थिव पटेल ने उन्हें स्टम्प किया. उनका विकेट 25.3 ओवर में 99 के कुल स्कोर पर गिरा.

60 गेंदों में पांच चौके लगाने वाले कुक इस मैच में भारत के खिलाफ टेस्ट मैचों में 2000 से ज्यादा रन बनाने वाले छठे बल्लेबाज बन गए हैं.

दूसरे सत्र में जो रूट (21) के रूप में मेजबानों को इकलौती सफलता मिली. उन्हें रविचन्द्रन अश्विन ने 136 के स्कोर पर कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच कराया. इस दौरान मैदानी अंपायर पॉल रफेल को चोट लग गई और उन्हें मैदान के बाहर जाना पड़ा.

अश्विन की गेंद पर जेनिंग्स ने स्कावयर लेग पर शॉट खेला और भुवनेश्वर कुमार ने गेंद को थ्रो किया जो रफेल के सिर में जा लगी. उन्हें मैदान से बाहर ले जाया गया. वह इस समय अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं.

दिन का अंतिम सत्र खेलने उतरी इंग्लैंड मजबूत स्थिति में था. जेनिंग्स और अली भारतीय गेंजबाजों का सामना आसानी से कर रहे थे. अली और जेनिंग्स ने तीसरे विकेट के लिए 94 रन जोड़े लिए थे. लेकिन अश्विन ने तीन गेंदों में दो विकेट लेकर इंग्लैंड को परेशानी में डाल दिया.

अली, अश्विन की गेंद पर स्विप करने गए और गेंद बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर हवा में गई, जिसे करुण नायर ने लपकने में कोई गलती नहीं की. एक गेंद बाद अश्विन ने जेनिंग्स को गली पर चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच करा उनकी शानदार पारी का अंत किया. अली और जेनिंग्स के विकेट 230 के कुल योग पर गिरे.

इसके बाद अश्विन ने बेयर्सटो को भी ज्यादा देर मैदान पर टिकने नहीं दिया और 249 के कुल स्कोर पर वह अश्विन की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में सीमारेखा के पास उमेश यादव के हाथों लपके गए.

हालांकि इसके बाद स्टोक्स और बटलर ने कोई और विकेट गिरने नहीं दिया. दोनों के बीच छठे विकेट के लिए 39 रनों की साझेदारी हो चुकी है.