विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी की है पैनी नज़र!

देहरादून प्रदेश में अभी भले ही विधानसभा चुनाव का औपचारिक ऐलान होना बाकी है, लेकिन कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों ने चुनावी जंग में कूद पड़े हैं. सियासी ताकत की आजमाईश शुरू हो गई है. भाजपा एक के बाद एक प्रदेश में ताबड़तोल रैलियां कर रही हैं. विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा ने प्रदेश की 70 विधानसभा सीटों पर चुनावी किलेबंदी शुरू कर दी है.

13 नवम्बर से भाजपा प्रदेश के कोने कोने तक परिवर्तन रैली के जारिये जनता के बीच पहुंच रही है. भ्रष्टाचार, पलायन बेरोजगारी जैसे मुद्दों को लेकर भाजपा जनता की नब्ज टटोल रही है तो वहीं धर्मेन्द्र प्रधान, जेपी नड्डा जैसे केन्द्रीय मंत्री परिवर्तन यात्रा के दौरान एक-एक इंच जमीन को नापने का काम कर रहे हैं.

जबकि 7 दिसम्बर को परिवर्तन यात्रा समाप्त होने जा रही है. यात्रा के दौरान भाजपा अब तक सैकड़ों सभाएं कर चुकी है. परिवर्तन यात्रा के दौरान अब तक दो बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी जनसभा को संबोधित कर चुके हैं.

भाजपा सूत्रों का कहना है कि पार्टी विधानसभा के 36 के जादुई आंकडें को पाने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है. वहीं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का कहना है कि प्रदेश में भाजपा को जनता का अपार जनसमर्थन मिल रहा है.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का कहना है कि प्रदेश में परिवर्तन यात्रा के दौरान जनता का अपार जनसमर्थन मिल रहा है.

भाजपा का यह भी मानना है कि पार्टी को विधानसभा चुनाव में एंटी इंकमबेंसी फैक्टर का लाभ मिल सकता है. रमेश पोखरियाल निंशक का कहना है कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है. ये घोटाले ही प्रदेश सरकार लें डूबेंगे.